jaspreet singh   (JS)
194 Followers · 211 Following

read more
Joined 25 October 2020


read more
Joined 25 October 2020
20 NOV AT 22:25

रूठने वाले अक्सर मनाया नही करते
जो मनाते है वो अपनी अहमियत दिखाया नहीं करते
माना रिश्तों में हर कोई एक सा नहीं होता
पर जो प्यार करते है वो एक दूसरे को सताया नहीं करते

-


20 NOV AT 22:21

मुक्त हो जाओ अहम से
तुम सर्वोपरी हो इस वहम से
हर कोई यहां अपने में ख़ास है
क्योंकि धरती पे आया है वो रब के रहम से

-


20 NOV AT 22:17

दुनिया रोज़ नईं लगती है
तुम्हारी हार पे ये हस्ती है
पर इसको तुम जीत के दिखा दो
क्योंकि ये जीतने वालों के पीछे चलती है

-


20 NOV AT 22:14

ख़ुद को खफ़ा क्यों करते हो
जीते जी क्यों करते हो
बुरा वक्त भी एक दिन पलट जायेगा
तुम हालातों से क्यों डरते हो

-


19 NOV AT 23:05

आसान नही है पुरुष होना
हर बार ख़ुद को खोना पड़ता है
हो कितना भी दर्द जीवन में
हर आंसू को पीना पड़ता है
माना हमारी बहुत कठोर समझते ही लोग
पर जीने के लिए हमें कठोर होना पड़ता है

-


19 NOV AT 23:00

इक ज़रा हौसला चाहिए बिन पंखों के उड़ान भरने का
अनजानी राहों पर चलकर हर मुश्किल को पर करने का
माना आसान नहीं है आजकल बिना झूठ तरकी पाना
पर दिलों दिमाग में हिम्मत चाहिए सच्चाई का दामन पकड़ने का

-


18 NOV AT 21:39

थी दोनों की राह जुदा
पर मंज़िल एक हो गईं
हैं शरीर अलग अलग
पर रूह एक हो गईं
अब फ़र्क नही पड़ता दूरियों का
क्योंकि धड़कन जो एक हो गईं

-


18 NOV AT 21:34

दुनिया नहीं समझती
कि तुम भी डरते हो
अंजानी राहों पे
तुम भी सहमते हो
उन्हें दिखता है
एक कठोर सा चेहरा
वो नहीं समझती
कि तन्हां रातों में तुम भी रोते हो

-


18 NOV AT 21:29

उम्मीदों भरी ज़िन्दगी बेकार ही न जाए
इस भीड़ में कहीं हम खो ही न जाए
अभी तक थामें रखा है उम्मीदों का दामन हमनें
पर डरते है कहीं उम्मीदों का आईना कहीं टूट ही न जाए

-


18 NOV AT 21:24

ये बेचैनी किस बात की है
ज़िन्दगी अंधेरी एक रात सी है
बस अपने आप पर भरोसा रखो
रात की बाद की सुबह भी कुछ ख़ास सी है

-


Fetching jaspreet singh Quotes