Irshad Khan   (broken Khan💔🖤🥀)
5 Followers · 1 Following

Joined 11 June 2021


Joined 11 June 2021
19 HOURS AGO

उम्मीद कर रहा था नए साल से बहुत

इक और ज़ख़्म दे के नवम्बर चला गया

-


15 NOV AT 19:02

क़दम क़दम पर जीवन में दूरी ने रूप निखारा है

तब तक नाव सुहाए दिल को जब तक दूर किनारा है

-


11 NOV AT 15:13

राष्ट्रीय शिक्षा का कोई भी कार्यक्रम सफल नहीं होगा,
अगर यह समाज की आधी आबादी की शिक्षा
और उन्नति पर पूरा ध्यान न दे –
जो कि महिलाएँ हैं।

-


7 NOV AT 7:37

ये दुनिया है यहाँ दिल को लगाना किसको आता है
हज़ारों प्यार करते है निभाना किसको आता है

वफ़ा का यूँ तो दम भरते हैं इस दुनिया में सब लेकिन
वफ़ा के नाम पर मिट कर दिखाना किस को आता है

-


3 NOV AT 12:07

दर्द वही देते है
जिन्हें आप अपना होने का
“हक़” देते है
वरना
ग़ैर तो हल्का सा धक्का लगने पर भी
माफ़ी मांग लिया करते है

-


3 NOV AT 11:44

ज़िंदगी तुझको जिया है कोई अफ़्सोस नही
ज़हर खुद मैंने पिया है कोई अफ़सोस नही

मैंने मुजरिम को भी मुजरिम न कहा दुनिया में
बस यही जुर्म किया है कोई अफ़सोस नही

मेरी क़िस्मत में लिखे थे बस उन्ही के आंशु
दिल के ज़ख्मों को सिया है कोई अफ़सोस नही

-


27 OCT AT 21:10

आप जिनके क़रीब होते है
वो बड़े खुशनसीब होते है

जब दिल किसी पर आता है
तब मौत के दिन क़रीब होते है

-


28 SEP AT 17:47

उन्हें भूल पाना आसान नही था
जिन्हें कभी दिल में बसाया था

हमारी यादों में बस गए
दिल के अरमानों में सज गए

जिनकी आहट से होठों पर मुस्कान आ जाती थी
उन्हें भूल पाना आसान नहीं था

पर शायद याद रखने के लिए
कुछ खास भी नही था।

-


24 SEP AT 21:06

हम उनको भुलाए तो भुलाए कैसे
वो याद आते हैं दिल धड़कने से पहले

वो ना बात करे तो कोई ग़म नही
जब मुड़ जाती है देखकर वो दर्द बताए कैसे

लम्हा दर लम्हा तड़पता हूँ दीदार-ए यार को
उन्हें दिली मोहब्बत ही नही दिल को समझाऊँ कैसे

-


24 SEP AT 20:37

तेरी दुनिया में जीने से तो बेहतर है की मर जाए
वही आसू ,वही आँहें, वही ग़म है जिधर जाये

कोई ऐसा भी तो मिलता मोहब्बत में जो मिट जाता
वही है बेवफा चेहरे है जहां जायें जिधर जायें

अरे ओ आसमाँ वाले बता इसमें बुरा क्या था
ख़ुशी के चार बूँदे ग़र मेरे ऊपर भी पड़ जाए

-


Fetching Irshad Khan Quotes