Devpriya Dewangan   (devpriya_02)
947 Followers · 3 Following

Creating my own joy❤️
Joined 17 July 2020


Creating my own joy❤️
Joined 17 July 2020
8 APR AT 13:19

In the dark room of loneliness
My heart suffer from emptiness

-


17 JAN AT 16:09

अंधेरी रात में एक मुलाक़ात युं होगी
चांद की चांदनी में अलग सी बात होगी
पतझड़ के मौसम में
बसंत की बहार होगी
बिन मौसम बरसात होगी
अल्फाजों से नहीं सिर्फ
आंखों से बहते अस्को से बात होगी
जमे हुए अनदाम में फिर
गरमाहट की आंच होगी
यह ख्वाब एक दिन
हकिकत मुलाक़ात होगी ।।

-


29 DEC 2020 AT 13:20

Some doubts are
Ending of your
"FAITH"
Give your mind some refreshing space
So your doubt could replace ।।

-


14 DEC 2020 AT 12:03

A silent voice freaked
Into the clouds
Heavily rained
No one knew
But each relished the pain ।।

-


10 NOV 2020 AT 11:56

Tears world's
purest thing
Not a sign of
One's Weakness ।।

-


8 NOV 2020 AT 12:59

It's your hug
Which is like soothing drug!!!!
Makes me pleasant
Heals up all my wounds present....
All my anger vanishes
When you cuddle me in your arms ....
Feelin like , a winter born fire warm!!!!

-


6 NOV 2020 AT 19:38

ज़ख़्म इतने खूबसूरत
दिए है किसी ने की
मरहम लगाने की
ख्वाइश ही मिट गई
आंखो से वार किया उन्होंने
देख हस्ते-हस्ते
हमारी जान ही चली गई ।।

-


5 NOV 2020 AT 21:36

दिमाग कहां है खोया हुआ, कि कुछ सूझता नहीं
ख्याल परिवार का क्यों मन में आता नहीं
मुश्किलें सबकी जिंदगी में है , पर कोई बताता नहीं
कुछ कर दिखाने की काबिलियत तुझमें भी है,
बस तू पहचानता नहीं ।
पहचान खुद को , दे एक ओर मौका ओर जीत इस कामयाबी को
यह जिंदगी तोहफा है खुदा का
जो हर किसी को मिलता नहीं ।
तू आगे बढ़ ओर थाम ले जिंदगी को
सुन जिंदगी तुझसे क्या कहना चाहती है ,
फिर देखना तेरी काबिलियत
किस तरह तुझे एक नए रंग में ढालती है ।
बस तू मुस्कुराकर बढ़ आगे, बढ़ आगे ।।

-


Seems Devpriya Dewangan has not written any more Quotes.

Explore More Writers