Devang Pratap Singh   (मुसाफ़िर)
3.1k Followers · 109 Following

read more
Joined 21 May 2017


read more
Joined 21 May 2017
Devang Pratap Singh 1 MAY AT 23:21

हर नज़्ज़ारा डूब रहा है,
आँखों में इतना पानी है,

मौत ही केवल सच्चाई है,
ये जीना नौहा-ख़्वानी है,

जाने वालों ने ज़िद कर के,
बात न कोई भी मानी है,

-


Devang Pratap Singh 5 APR AT 19:37



शेर ग़जब के कहते हैं,
दुःख को जीने वाले लोग,

दिल दरिया में क्यूँ ठहरें?,
पार उतरने वाले लोग,

-


Devang Pratap Singh 16 MAR AT 20:53

मिलते हैं मेरी जान तुम्हीं से बदन बग़ैर,
अपना लिबास ए जिस्म उतारे हुए हैं हम,

-


Devang Pratap Singh 6 MAR AT 20:51

ख़्वाब देखना बुरा नहीं है,
और न ही उनको पूरा करने की कोशिश ग़लत,
बुरा तो उन ख़्वाबों का टूट कर
आँखों में इतने वक़्त तक पड़े रहना है
की वो आँखें अंधी हो जाएं,
और फिर कोई ख़्वाब कभी न देख सकें

-


Devang Pratap Singh 17 JAN AT 16:06

इश्क़ मुहब्बत अच्छे हैं पर,
तन्हाई की बात अलग है

-


Devang Pratap Singh 3 DEC 2019 AT 23:35

कागज़ पर इक आँख बनाकर,
मैं ख़ुद को देखा करता हूँ

-


Devang Pratap Singh 12 NOV 2019 AT 21:30

दीवारों को सुन सकता हूँ,
इस हद तक ख़ामोश रहा हूँ

-


Devang Pratap Singh 6 NOV 2019 AT 12:19

सर पटक कर देखना है एक बार,
इश्क़ को पत्थर कहा था मीर ने,

-


Devang Pratap Singh 18 SEP 2019 AT 21:22

उस मुसव्विर के हुनर को देखकर,
रंग ख़ुद में भर लिए तस्वीर ने ,

-


Devang Pratap Singh 10 AUG 2019 AT 23:08

बीमारी में ख़ुद से कहता रहता हूं,
दर्द में हूं,मतलब मैं अब तक जिंदा हूं

-


Fetching Devang Pratap Singh Quotes