Basant Sao  
6.3k Followers · 84 Following

read more
Joined 6 July 2018


read more
Joined 6 July 2018
2 HOURS AGO

मैं जो लिखता हूँ,
जितना लिखता हूँ..

मेरे लिखने की वजह,
मुझे दो नज़र आती है...

पेहली वजह
मैं सोचता बहुत हूँ..

दूसरी वजह, मुझे मेरे सोच में,
सिर्फ वो नज़र आती है...

-


28 FEB AT 2:18

Nothing is interesting...
The fun has gone...

Living in the darkness,
Like sun has gone...

-


21 FEB AT 12:03

बहुत ही हिसाब से,
हिसाब मैंने बराबर कर दिया है....

सब को खुद से, खुद को सब से,
निकाल कर मैंने बाहर कर दिया है...

-


18 FEB AT 9:53

Love is love.

It should not be misjudged.
Even it should not be judged.
It should be felt.

-


11 FEB AT 12:15

देखो ना,
उसके चेहरे पर दाग भी है,
उसके चेहरे पर नूर भी है...

ये कैसी मोहब्बत है मेरी चाँद से,
दिल के पास तो है,
मगर पहुँच से दूर भी है...

-


6 FEB AT 11:02

Unbroken imaginations
play very vital role in our life...

But broken imaginations
play with emotions of our life...

-


1 FEB AT 11:24

एक अदा से शुरू,
एक अंदाज़ पे खत्म होती है...

नज़र से शुरू हुई मोहब्बत,
नज़रंदाज़ पे खत्म होती है...

-


27 JAN AT 12:35

कल कोई सहयोग में था,
कल कोई विरोध में था...

कौन किसान, कौन जवान,
दिन भर मैं इस सोच में था...

आंदोलन करते हुड़दंग कर गया,
न जाने कौन है वो किस होश में था...

वादे सरकार न किए और किसानों ने भी ,
पर वादों का टूटना दोनो ओर से था...

जय जवान, जय किसान का नारा,
कल बहुत अफसोस में था

कल देखा था मैंने तिरंगे को,
वो तिरंगा जैसे शोक में था...

-


23 JAN AT 11:58

कभी अतीत काल में रहता हूँ,
कभी भविष्य काल में रहता हूँ,
और कभी तत्काल में रहता हूँ...

मैं हर दफा, हर घड़ी,
बस खयाल में रहता हूँ...

-


17 JAN AT 9:58

ज़रूरी नहीं है,
वो ज़रूरी होकर भी...

मुकम्मल है मेरी मोहब्बत,
अधूरी हो कर भी...

-


Fetching Basant Sao Quotes