Basant Sao  
5.9k Followers · 73 Following

read more
Joined 6 July 2018


read more
Joined 6 July 2018
5 HOURS AGO

एक बार भाव तो दे जान-ए-मन...

तूझे गुलाब नहीं
पूरा बगीचा लाकर दे दूँगा...

इतना भाव क्यों खाती है?? बता??...

खाना है तो मन भर के खा लेना,
तूझे पपीता लाकर दे दूँगा...

-


25 NOV AT 10:12

Before you build your
career...

Build the "Patience"
in yourself,
with the bricks of faith...

-


21 NOV AT 10:52

सब कुछ खत्म होने के बाद,
'कुछ न कुछ' बाकी रह जाता है...

वो "कुछ" हंसाने और ,
रूलाने क लिए काफी रह जाता है...


उस "कुछ" का मतलब
"यादें" होती है...

-


17 NOV AT 11:07

कोई मुझे मुझसे ही बचाए,
बड़ा ही खतरनाक हो गया हूँ मैं...

परवाह नहीं है अब किसी चीज की,
बिंदास, बेफिक्र, बेबाक हो गया हूँ मैं...

-


16 NOV AT 9:00

खूब जलाओ फटाके,
खूब जलाओ फुलझड़ियाँ,
और जला कर सब कुछ राख कर देना...

सरहद पर सिपाही देख लेंगे,
मगर जो अंदर कचरा होगा,
उसे तुम सब मिलकर साफ कर देना...

-


10 NOV AT 9:03

साथ निभाने वाले कम हैं...
साथ दिखाने वाले ज्यादा हैं....

-


6 NOV AT 12:02

There is a 'Blank' phase
which everyone has to
face for a once in their life...

Can't feel anything...
Can't fill anything...
Atlast,
It kills everything...

-


1 NOV AT 12:21

माना मुश्किल है पर...

जब गुस्सा आए तो,
खुद को संभाल लेना चाहिए..

बातों को एक कान से सुन कर,
दूसरे कान से निकाल देना चाहिए...

-


29 OCT AT 12:10

Nowadays people
and their talks are like,

They hit the 'heart' hard... or
They heat the 'ass' hard...

-


25 OCT AT 11:21

अंधेरे में है सूरज कि,
सूरज में अंधेरा नहीं होता...

हर सवेरे में है सूरज,
सूरज में सवेरा नहीं होता...

-


Fetching Basant Sao Quotes