Ayman Jamal   (JAMAL)
6.1k Followers · 74 Following

chale-chalo ki vo manzil abhi nahi'n aa.i (~Faiz)
Joined 10 November 2016


chale-chalo ki vo manzil abhi nahi'n aa.i (~Faiz)
Joined 10 November 2016
19 JAN AT 22:00

बहुत है बचपना, है जवानी भी खूब,
इश्क़ की उम्र घटती, बढ़ती है रोज ही ।

-


16 JAN AT 22:09

होता यूं तो क्या होता, क्या नहीं होता
इस फलसफे ने जाने कितनी आंखों को सपने दिए ।

-


2 JAN AT 23:47

हमने देखा है उसे ऐसे भी
जैसे भोर से पहले चांद पूरे शबाब पे हो ।

-


11 NOV 2020 AT 1:43

मैंने कब कहा नही मै आज़ाद,
लेकिन ये क्यों कहूँ मै कैद में नहीं ।

-


5 NOV 2020 AT 11:52

जिस्म बेचने वालों को, हिकारत की नज़र से देखते हैं
वो जो ख़ुद अपना ज़मीर बेचते हैं ।

-


5 OCT 2020 AT 11:21

बहुत मायूस था दिन
रात बहुत उदास थी
उसने वादा किया नही तो क्या
हमे आमद की उम्मीद तो थी ।

-


21 SEP 2020 AT 19:08

तुम उमदा शागिर्द हो सबक बहुत तेज़ याद करते हो
हम उमदा शायर हैं सबक बहुत रोज़ याद रखते हैं ।

-


21 SEP 2020 AT 1:37

हमने सीखा है दरिया से इश्क़ का हुनर
एहसास ए लम्स से तुम और निखर जाओगे ।

-


20 SEP 2020 AT 0:51

ठहरा रहता है वक़्त अब आइने पर धूल की परत जैसे
ना वक़्त कहीं उड़ता है ना चेहरे साफ दिखते हैं ।

-


19 SEP 2020 AT 1:48

हम कब थे चारागर, हमी ने मगर
दर्द की दवा, बन के हमदर्द की ।

-


Fetching Ayman Jamal Quotes