Aparna GuptaPaliwal   (©Aparna_Ishwa)
1.8k Followers · 54 Following

read more
Joined 27 August 2017


read more
Joined 27 August 2017
1 SEP AT 9:24

YQ !
मत करो यार ऐसा...
हम जैसे गरीब कागज़ रंगीन करने के लिए पैसे नहीं दे सकते यार... दया करो...
क्या बिल्कुल अडानी को ही पीछे करके मानोगे क्या?
हमको रीच नहीं चाहिए,हमारे कोट किसी तक नहीं भी पहुँचे तब भी चलेगा,हमको कोई फैसिलिटी नहीं चाहिए बस कम से कम As A Diary तो इस्तेमाल करने दो यार सब कुछ इधर ही सेव है प्रभु😕

-


25 AUG AT 9:47

भले फेरो निगाहें पर जताओ प्यार से गुस्सा
तरीक़ा ख़ूब हो चाहे मुहब्बत हो, शिक़ायत हो

-


22 AUG AT 8:57

मुकम्मल किस तरह होगी कहानी
कहानी में बहुत सी अड़चनें हैं

-


16 AUG AT 9:46

न जाने और कितनी दूर जाकर बात ठहरेगी
हमारी बात लंबी है बहुत ज़्यादा बहुत ज़्यादा

-


9 AUG AT 22:04

Ham Nazar Jhukaaye Baithe The
Khud Apni Hii Uryaanii Pe
Woh Kas Ke Hamse Lipat Gaye
Aur Choom Liya Peshanii Pe

-


9 AUG AT 12:21

दुपट्टा शर्ट में फंसना, बटन का टूटकर गिरना
वो मंज़र जानलेवा था बहुत ज़्यादा बहुत ज़्यादा

-


4 AUG AT 8:24

Dard Qayamat Zakhm Qayamat Zakhm Pe Marham Ek Qayamat
Ek Qayamat Khara AaNsuu Zakhm Pe Marham !
Haay Qayamat !

-


1 AUG AT 21:27

सरक कर गिर पड़ा झुमका, फंसा कंगन कलाई में
कशाकश थी मुहब्बत में बहुत ज़्यादा बहुत ज़्यादा

-


28 JUL AT 21:33

सुलझते ही नहीं गेसू , जतन कर करके हारी हूँ
लटें उलझी हुईं हैं ये बहुत ज़्यादा बहुत ज़्यादा

-


28 JUL AT 8:00

तुम्हारे नाम लिखकर आठ चिट्ठी
मैंने ताले के अंदर रख रखी है

कि जिस चाभी से ताला खुल सकेगा
वही चाभी छुपाकर रख रखी है

-


Fetching Aparna GuptaPaliwal Quotes