Anuup Kamal Agrawal   (A.AG.)
16.4k Followers · 1.4k Following

read more
Joined 4 October 2016


read more
Joined 4 October 2016

ख़यालों ही ख़यालों में दिल बहल गया
हटाया जो उसने घूँघट दिल दहल गया

-


12 likes · 2 comments

अंदर और बाहर का मौसम बदल रहा है करवट।
न जाने किसके चेहरे पर मचल रही है घूँघट।

-


24 likes · 7 comments

अधजले बारूद पर जैसे चिंगारी रख दी
मैंने अपने होठों पर तस्वीर तुम्हारी रख दी

-


24 likes · 6 comments

हर रात मिलता है
और सुबह बिछड़ जाता है

-


ये रिश्ता है क्या कीजिए 🌻 #YourQuoteAndMine
Collaborating with Roli Dixit

23 likes · 1 comments

रिश्तों को रेत बन जाने दो
रक्त को स्वेत बन जाने दो
कब तक दोगे कृत्रिम साँस तुम
प्रेम को प्रेत बन जाने दो

-


31 likes · 5 comments

Nothing can set you free.
Only you can.

-


51 likes · 2 comments

तुम गये नहीं, साथ रह गये हो।
इतने कम दिनों में कितना कुछ कह गये हो।

श्रद्धांजलि।💐

-


Dedicating a #testimonial to santmani jha

72 likes · 11 comments

वो चिड़ियों के लिये हर रोज़ छत पर पानी रखने जाता था।
आसपास की चिड़ियों को देख उसके मुँह में पानी आता था।
सूख चुका था उसकी आँख का पानी।

-


56 likes · 5 comments

जंग का ऐलान कर
क्यों हैं सब परेशान तुझसे
थोड़ा अनुसंधान कर

-


Show more
64 likes · 8 comments

तू भी कभी रक्तदान कर

-


Show more
65 likes · 1 share

Fetching Anuup Kamal Agrawal Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App