Anand Kanaujiya   (Anand)
153 Followers · 158 Following

read more
Joined 7 January 2019


read more
Joined 7 January 2019
YESTERDAY AT 23:41

प्रेम साथ रहा तो बस जुदाई का डर लिए।
प्रेम वास्तव में तो सदा जुदाई में गए जिए।।

-


6 APR AT 23:49

नूरानी चेहरे के कैनवास पर
रेखाएँ मुस्कान की खींच रखी है,
जुल्फों पर रोशनी की चमकीली
तितलियाँ ढ़ेरों बिठा रखी हैं।

-


5 APR AT 2:18

रूप उनका साक्षात देवी सरीखा होता है
नवरात्र में जब उनका माँ का व्रत होता है।

वो सर झुका कर न जाने माँ से क्या माँगते हैं
हम तो माँ से और उनसे बस उन्हें माँगते हैं।

-


5 APR AT 2:16

मुझे बहुत भाते हैं वो इन्सान,
जो परेशान तो बहुतों से हैं मगर
निकाल लेते हल हर समस्या में और
उन्हें होती शिकायत किसी से नहीं।

-


3 APR AT 22:37

सुना है !
बिछड़े हुए लोग एक बार ज़रूर मिलते हैं ...

सच में?

-


3 APR AT 12:01

मुझे बहुत भाते हैं वो इन्सान,
जो परेशान तो बहुतों से हैं मगर
निकाल लेते हल हर समस्या में और
उन्हें होती शिकायत किसी से नहीं।

-


30 MAR AT 23:57

इक छोटी कमाई में कई सपनों को पूरा करना होता है
यूँ ही नहीं घर का मुखिया शहर में फुटपाथ पर सोता है।

-


30 MAR AT 12:04

कोई तो रंग ऐसा होगा
जो भा जाए तेरे रंग को
अख्तियार कर लूँ वो रंग
एक तेरा रंग पाने को।

-


30 MAR AT 12:00

कोई तो रंग ऐसा होगा
जो भा जाए तेरे रंग को
अख्तियार कर लूँ वो रंग
एक तेरा रंग पाने को।

हजारों रंग ले लिए खुद में
तुझ संग होली मनाने को।
रंग-बिरंगा देख यहाँ सबने
मान लिया है रंगबाज़ हमें।

©️®️होली/अनुनाद/आनन्द कनौजिया/३०.०३.२०२१

-


29 MAR AT 1:01

रंग होली के, तेरा रंग मिले
तो होली हो!
टोली होली के, तेरा संग मिले
तो होली हो!
गाल गुलाबी लाल करूँ, गाल तेरे हों
तो होली हो!
पिचकारी साधूँ, निशाना तुम हो
तो होली हो!

-


Fetching Anand Kanaujiya Quotes