Amit KSoni   (Amit_के वाकिफ शब्द)
4.4k Followers · 7.1k Following

read more
Joined 8 September 2020


read more
Joined 8 September 2020
13 JAN AT 9:13

कहानी पुरानी हो गई महफ़िल की मुह जुबानी हो गई
चंद अपनी खूबसुरती के कुछ लफ़ज सुनकर
हमारी दीवानी की हरकते बइमानी हो गई

-


31 DEC 2020 AT 18:53

Happy New Year
2020 ने दर्द का एेसा बीज बोया है
कितनो ने इस साल अपनो को खोया है
2021 कुछ एेसा कर दिखाये
उसके लबो पर भी मुस्कान आये जो इस साल रोया है

-


15 DEC 2020 AT 8:12

कैसे कैसे ढ़ोंग रचाते है लोग
जो माँ बाप उनको दुनिया मे लाये
उनको छोड़ सन्यासी बन ज़ाते है लोग
अगर भगवान से इतना प्यार है तों ये नाटक बंद करो
कर्म से सबकुछ मिलता है पाप पुन्य मे कितना फस ज़ाते है लोग

-


12 DEC 2020 AT 9:44

रूहानी मोहब्बत का वास्ता देकर जो लोग करीब आया करते है
बचकर रहना उनसे उनकी मोहब्बत बिस्तर मे मुक्कमल होती है

-


11 DEC 2020 AT 20:38

दुनिया दिल दिल करती है मेरी आत्मा मे तेरी झलक है तेरी आँखो मे मेरी तस्वीर उसको छुपातीे तेरी पलक है
दिल से नादानी हो जाती है तेरी चर्चा सबसे कर देता है
वरना इस रिश्ते का गवाह नीचे ज़मी ऊपर फलक है

-


25 NOV 2020 AT 16:12

दिल के तार
कई बार
मेरे यार
एेसे छिड़ ज़ाते है
मोहब्बत की गलियो मे बस
तेरा नाम सुनाई देता है

-


14 NOV 2020 AT 6:52

Happy deewali
Sbhi log khus rhe mst rhe unke jo bhi dream Ho acche wale pure ho

-


10 NOV 2020 AT 18:25

मम्मी की ज़िद पर साड़ी आई दीदी के ज़िद पर घड़ी
मेरे ज़िद पर पटाखे आये पापा की कमीज पर किसी की नज़र ना पड़ी

-


4 NOV 2020 AT 10:32

मेरे चाँद चाँद और चॉदनी रात होगी
छन्नी के पार से निगाहो मे बात होगी
थाली मे रखे भोजन और मेरी जान की मुलाकात होगी
कुछ पल के लिए बस प्यार की बरसात होगी

-


1 NOV 2020 AT 8:58

past मे इतना क्यो जीते हो past मे जा सकते नही बदल सकते नही present को जी रहे नही हो future बिगाड़ रहे हो

-


Fetching Amit KSoni Quotes