Amandeep Singh   (MannसेAman)
2.6k Followers · 72 Following

Insta: waah.amandeep

New Video ("A Gazal on farmers") 👇
Joined 22 December 2016


Insta: waah.amandeep

New Video ("A Gazal on farmers") 👇
Joined 22 December 2016
23 JAN AT 22:01

-


7 JAN AT 17:01

दी बद्दुआ बिना सोचे तूफ़ानों को
दौड़ रही थी महज़ हवा शैतानी में

(पूरी ग़ज़ल कैप्शन में पढ़ें 👇)


-


31 OCT 2020 AT 21:55

-


17 SEP 2020 AT 21:49

.
.
सब कुछ था पर्दे में आँखें, मगर, रिहा थीं उसकी
सब कुछ बता गयी इक बुर्क़ा-नशीं दर्द के बारे
.
.

(पूरी ग़ज़ल अनुशीर्षक में पढ़ें 👇)

-


5 AUG 2020 AT 11:37

रोते बादल की कालिख कम होती नहीं कभी
पक्का उसका काजल वॉटर-प्रूफ़ रहा होगा

हाकिम हम को क़ैद-ए-वबा से छुड़ा नहीं पाया
मंदिर मस्जिद खेलने में मसरूफ़ रहा होगा


-


15 JUL 2020 AT 13:47

.
.
ग़ैर मज़हब के ख़यालों से अगर हो नफ़रत
ग़ैर मज़हब वालों से नफ़रत नहीं करूँगा
.
.
(पूरी ग़ज़ल अनुशीर्षक में पढ़ें 👇)


-


23 JUN 2020 AT 17:12

हम ऐसों को इश्क़ दुबारा नइं होता
हम ऐसों के लिए बना है दर्द-ए-दिल
.
.
.
.
(पूरी ग़ज़ल अनुशीर्षक में पढ़ें 👇)

-


14 MAY 2020 AT 14:06

मिलने आयी थी वो मुझसे आग पहन के
अभी अभी निकली है मीठे दाग़ पहन के
.
.
.
(पूरी रचना अनुशीर्षक में पढ़ें 👇)

-


13 APR 2020 AT 13:01

बच्चे अगर डराने हैं, शैतान बना
बात बड़ों की है? तो फिर भगवान बना

(पूरी रचना अनुशीर्षक में पढ़ें 👇)

-


15 MAR 2020 AT 17:40

नाटक करने वालों को मालूम है ये
नाटक ख़त्म नहीं होता है, कभी नहीं

-


Fetching Amandeep Singh Quotes