Abhishek Shekhawat   (Abhishek Shekhawat)
2.8k Followers · 5 Following

read more
Joined 11 April 2019


read more
Joined 11 April 2019
Abhishek Shekhawat 20 HOURS AGO

मुम्किन नहीं रहा अब साथ रहना हमारा ,
तुम हो गए हो किसी औऱ के
जिसे देखना मूझे नहीं है गवारा,
और यू मूझे देख बार-बार मुस्कुराया
ना करो,
तुम्हारी इसी मुस्कना पर ही तो हैं
मैंने अपना सब कुछ हारा....!!

-


Abhishek Shekhawat 11 JUL AT 8:56

कितनी दूर है मंज़िल मेरी मैं ये सोच रहा हूँ,
जो रहेगी हमेशा साथ मेरे कोई ऐसा सख्स ढूंढ रहा हूँ,
और जब होगी तकलीफ़ मुझे मेंरे रास्तों की ठोखरो से ,
तो वो कहे परेशान क्यों होंते हो
मैं हमेशा तुम्हारे साथ खड़ी हूँ तुम्हें संभालने को.......!!

-


Abhishek Shekhawat 9 JUL AT 17:03

कुछ तुमसे करे कुछ तुम्हारी करे,
ना ज़िक्र करे ना नाम ले,
जो कि हैं गलतियाँ हम दोनों ने
उन गलतियों को भुल कर एक नई सुरुवात करे,
आओ कुछ बातें करें,
कुछ तुमसे करे कुछ तुम्हारी करे.......!!

-


Abhishek Shekhawat 7 JUL AT 14:08

उसने जो भी कहा मैंने चुप चाप सह लिया,
अपने दिल मे उसके सिवा किसी औऱ को जगह ना दिया,
फिर भी ना जाने क्यों वो ख़फ़ा है मुझसे,
उसने जहा भी मुझे देखा,
वहाँ से आना जाना छोड़ दिया,
और जब पूछा मैं इस बेरुखी का राज़,
तो उसने हमारा मिलना महज़ एक इत्तेफ़ाक़ बात दिया......!!

-


Abhishek Shekhawat 5 JUL AT 18:23

वो वापस आयी है मेरी ज़िन्दगी में मेरे सारे आँसू सूखने के बाद,
ढूंढ रही है मेरे दिल मे अपनी वही जगह मुझे छोड़ने के बाद,
अब उसे क्या बताऊँ बरसो बाद भी इस दिल मे उसकी जगह किसी ने नही ली,
पर उस पर दोबारा ऐतबार कैसे कर लूँ एक बार धोखा खाने के बाद......!!

-


Abhishek Shekhawat 4 JUL AT 0:35

उसे बाते नहीं करनी मुझसे ,
फिर भी उसे मना रहा हूँ,
ज़िन्दगी में बहुत लोगों को खो दिया है मैने ,
अब उसे भी खोने से डर रहा हूँ,
और उसे मनाने के खातिर ना जाने कितनी दफ़ा माफ़ी माँगी है मैंने,
अब तो मेरा ज़मीर भी चीख _चीखकर कह रहा
किसी ग़ैर के ख़ातिर क्यों इतना गिरा रहा है मुझे.......!!

-


Abhishek Shekhawat 30 JUN AT 22:22

मुझे कभी छोड़कर मत जाना,
करू गलती कभी तो मुझे प्यार से समझाना,

और आये कभी जो मौत तुम्हारे दर पर
तो मौत से कहना इसे भी साथ ले चलो मुझे इसके बगैर नही है जाना......!!

-


Abhishek Shekhawat 29 JUN AT 19:44

तेरी ये मैं हर शुभा कहता हूँ,
रात होते ही तुम्हे अपने खाबो में तलाश करता हूँ,
तू मिल जाए मुझे किसी मोड़ पर खुदा से ये मिनते भी करता हूँ,
और तू ख़ुश है किसी और के साथ ये सोच्च मन ही मन
उस से बहुत जलता हूँ......!!

-


Abhishek Shekhawat 28 JUN AT 11:22

वो कहती है मेरी इतनी फिक्र ना करो,
ज़माने में मेरा ज़िक्र ना करो,
और क्यों पूछते हो तुम मेरे शहर का नाम,
मैं नहीं बताऊँगी तुम यू ज़िद ना करो.......!!

-


Abhishek Shekhawat 27 JUN AT 14:10

तलाश जारी है उस सख्स की,
जो करे हमेशा मेरे मन की,
रहे हमेशा वो साथ मेरे,
ना सोचे कभी वो मुझसे दूर जाने की,
और हो जाये कभी गलती मुझसे,
तो वो मुझे प्यार से समझाए
और कहे ये लो तुम्हारी अदरख वाली चाय
जो है तुम्हारे पसन्द की........!!

-


Fetching Abhishek Shekhawat Quotes