Vivek Thakur   (सारांश✍️)
225 Followers · 64 Following

read more
Joined 16 May 2019


read more
Joined 16 May 2019
Vivek Thakur 2 HOURS AGO

ज्यादा के लालच में जो है वो भी हाथ से फ़िसल जाएगा,
इच्छाएँ कम रख ज़िन्दगी में खुशियों का संसार नज़र आएगा।

-


Show more
17 likes · 3 comments
Vivek Thakur 7 HOURS AGO

बरस जा ओ बदरा प्यारे ,
उस गरीब की आंखें पल पल तुझे निहारे।
जीवन में इनके भी खुशियां आएं,
मिट जाए इनके भी गम सारे।
सोच ले थोड़ा इनके भी बारे,
जी रहे बस वो तेरे सहारे।

देख तेरे आगे वो बेचारे,
बैठे हैं अपने हाथ पसारे।
तेरे उम्मीद में दिन रात गुजारे,
अब तू इतना क्या विचारे।
बरस जा ओ बदरा प्यारे,
हर ले इनके दुख सारे।

बरसेगा तू गर फसल खिलेगी,
इनको भी जीने की उम्मीद मिलेगी।
मायूस चेहरे भी मुस्काएँगे,
वो भी दो रोटी खा पाएंगे।
ना बरस क्यों तू इनका गम उभारे,
सुन दिल की फरियाद हमारे।
......
बरस जा ओ बदरा प्यारे।

-


Show more
19 likes · 13 comments
Vivek Thakur 10 HOURS AGO

बचपन भी क्या लाजवाब था,
पास खुशियों का खजाना बेहिसाब था।

ना कुछ खोने का डर ना पाने का ख्वाब था,
वो हँसता खेलता बचपन बहुत नायाब था,

ना आज जैसा ज़िन्दगी में ग़मों का सैलाब था,
ना चेहरे पे झूठी मुस्कुराहट का नक़ाब था।

आज ज़िन्दगी के थपेड़ों से परेशान हैं सब,
बचपन में हर कोई जैसे नवाब था।



-


Show more
17 likes · 6 comments
Vivek Thakur 12 HOURS AGO

इन "धूल भरे रस्तों पर चलकर" ही मंजिल मिलेगी,
तू खुद में कुछ कर गुज़रने का जोश तो भर,

तेरा हर ख्वाब बदलेगा हकीकत में,
तू दिल में उम्मीद रख ज़रा कोशिश तो कर।

-


Show more
21 likes · 4 comments
Vivek Thakur 21 HOURS AGO

आज कड़वा हुआ मन लोगों का कड़वी हुई ज़बान,
हो दौलत के नशे में चूर अपनों को ही भूल रहा इंसान।

-


Show more
18 likes · 2 comments
Vivek Thakur 22 HOURS AGO

आज के हालात देख, दिमाग चकरा जाता है।
ये हैवान मासूमों को भी हैवानियत का शिकार बना रहे हैं,
ये देख दिल बहुत घबरा जाता है।

इंसानियत तो जैसे मर चुकी है,
इंसान में आज वहशीपन ही ज़िंदा नज़र आता है
हमें इंसान बना के, आज
वो ख़ुदा भी कुछ शर्मिंदा नज़र आता है।

-


Show more
18 likes · 8 comments
Vivek Thakur YESTERDAY AT 17:54

बात ही कुछ अलग होती है रोकर मुस्कुराने की , 
बात ही कुछ अलग होती है खो कर कुछ पाने की।

हार जीत तो लगी रहती है जिंदगी में दोस्त,
बात ही कुछ अलग होती है हार के बाद जीत जाने की।

-


Show more
22 likes · 12 comments
Vivek Thakur YESTERDAY AT 13:03

,तू बीती बातों को भुलाकर तो देख,
गमों में भी जरा मुस्कुरा कर तो देख।

आने वाला पल ख़ुद-ब-ख़ुद रौशन हो जाएगा,
तू उम्मीदों का दीप जलाकर तो देख।

-


Show more
24 likes · 6 comments
Vivek Thakur YESTERDAY AT 12:09

खुद को बहुत होशियार दुनिया को अनाड़ी समझते हैं,
"जीवन कोई खेल नहीं है" जानकर भी कुछ लोग,
किसी के जज्बातों से खेल खुद को खिलाड़ी समझते हैं।

-


Show more
27 likes · 9 comments
Vivek Thakur YESTERDAY AT 6:24

ज़िन्दगी में लाभ है तो हनियाँ भी बहुत हैं,
सुख गर बहुत है तो परेशानियां भी बहुत हैं।

कभी ज़िन्दगी आसान तो कभी इसकी मनमानियां भी बहुत हैं,
दर्द के किस्से हैं तो यादगार कहानियां भी बहुत हैं।

क्या हुआ जो उसने थोड़े गम दे दिए ,
उस भगवान की हम पर मेहरबानियाँ भी बहुत हैं।

-


Show more
22 likes · 6 comments

Fetching Vivek Thakur Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App