Vicky Singhal   (©विक्की...📝)
1.2k Followers · 3.2k Following

read more
Joined 15 November 2018


read more
Joined 15 November 2018
Vicky Singhal 12 HOURS AGO

She poured her feelings in her writeup,,,
That doesn't mean she is available....
©Vicky...📝

-


Show more
26 likes · 10 comments
Vicky Singhal 13 HOURS AGO

ख़ामोशियाँ ख़्वाहिश नहीं, मजबूरी है हमारी,,
तेरे दर्द का इल्म मेरी ग़ज़लों से पूछ, वो रोती हैं अक्सर तन्हाई में...

-


Show more
24 likes · 15 comments
Vicky Singhal 13 HOURS AGO

मैं धैर्य हूँ,,,
मैं सबमें कहाँ होता हूँ...

-


28 likes · 28 comments
Vicky Singhal YESTERDAY AT 18:56

लेखक हो, तो सम्मान करो लेखनी का,,
मत कूदो व्यर्थ की मगजमारी में...
अरे काहे चोरी का माल हड़पते हो,,
जब ख़ुद के अंदर हुनर तुम रखते हो...
सुनने का भी जज़्बा रखो,,
ग़र कहने की ज़ुबाँ रखते हो...
कब तक छेड़ोगे, महिलाओं को मज़े के लिए,,
कब तक करोगे टिका-टिप्पणी,
उनकी सादगीपूर्ण रचनाओं पर...
और जब खुद ही गए हो लंका में,
तो फिर पूछ जलने से काहे डर के भागते हो...
सम्मान करो नारी का,
मत आंको कमज़ोर तुम..
जब रणचंडी में कूदे वो,,
तो भागोगे सर पर धोती धर के...

-


Show more
39 likes · 56 comments
Vicky Singhal YESTERDAY AT 13:05

"Meri Gazlen Meri Nazmen"
👉👸

-


Show more
27 likes · 27 comments
Vicky Singhal 24 MAY AT 20:10

क़ाफ़िले हैं यारों के महफ़िल में मेरी,,,
पर तेरा ख़ुद महफ़िल हो जाना अच्छा लगता है...
और तेरी महफ़िल में मेरा ग़ज़ल हो जाना अच्छा लगता है...
थिरकती है क़लम मेरी लिखते-लिखते सिर्फ़ तुझको ही,,
तेरी अदाओं पे अल्फ़ाज़ों का झाँझर हो जाना अच्छा लगता है...
लेता नहीं उधार किसी से, ख़ुद्दारी आड़े आती है,,,
पर फ़िर भी तेरा कर्ज़दार हो जाना अच्छा लगता है...
यूँ तो मैं बहकता नहीं मयखाने में भी,,
पर तेरे कैफ़ में मेरा बहक जाना अच्छा लगता है...
शराब क्या है मालूम नहीं ज़ायका उसका,,,
पर तेरे होठों का ज़ायका अच्छा लगता है...
मरता हूँ रातों की तन्हाइयों में अकेले हरदम,,,
एक रात तेरे नाम लिख जाना अच्छा लगता है...
रंग बहुत हैं, इस रंगरेज़ की पोटली में,,,
पर तेरे रंग में रंग जाना अच्छा लगता है...
देखी नहीं सूरत तेरी इक अरसे से मैनें सनम,,,
अक्स तेरा मेरी ग़ज़लों में दिख जाना अच्छा लगता है...
जल चुका अब राख़ हूँ बाकी थोड़ा,,,
पर तेरी आँखों का सुरमा हो जाना अच्छा लगता है...

-


Show more
28 likes · 39 comments · 1 share
Vicky Singhal 24 MAY AT 15:24

उसने पूछा-
"कहाँ रहते हो, दिखते नहीं अब"
अजी, फ़क़ीर हैं साहब,,
दिलों में लंगर डाल लेते हैं...
फ़क़ीरों के कहाँ ठिकाने होते हैं...

-


38 likes · 29 comments · 1 share
Vicky Singhal 24 MAY AT 14:53

ख़ूबसूरत है तू, ख़ुदा की मूरत है तू,,,
तुझसे इश्क़ करुँ, या तेरी इबाद़त करूँ...

-


38 likes · 42 comments · 1 share
Vicky Singhal 24 MAY AT 13:55

तेरी मुस्कान वजह है, ज़िन्दा रहने की,,,
साथ कैसे छोड़ देते...
तेरी यादों की स्याही से अलख़ जगाता हूँ मैं,,,
बेरुख़ी कैसे जताते...

-


34 likes · 21 comments
Vicky Singhal 23 MAY AT 12:12

I have a treasure of
beautiful friends,
You are one of
pious gems of it...
©Vicky...📝

-


Show more
41 likes · 74 comments

Fetching Vicky Singhal Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App