YQLogo
YQTV
Upload
ExploreLog In

#urdushayari

6128 quotes

Trending|Latest
Dronika Mahi
1 MAY AT 11:41

दर्द है इश्क़... दवा है इश्क़..
हिज्र, मिलन, वफ़ा है इश्क़...
इश्क़ किसी उम्र, मज़हब, सोच का मोहताज़ नहीं है...
क्या करूं मेरा तो ख़ुद ख़ुदा है इश्क़...

-

Show more
Like426Comment134Flag

Dronika Mahi
28 AUG AT 19:20

जब से तू रूबरू नहीं होती....
जाने क्यों तेरी जुस्तजू नहीं होती....
आकर समा भी जाये आगोश में मिरे....
पर अब तेरी आरजू नहीं होती....

तेरी तिश्नगी भी दरिया सराब जैसी है....
मेरी हालत ख़ाना ख़राब जैसी है....
अब तो तर्के-मरासिम का भी गम नहीं है मुझे....
तू मेरी ही रहती गर बे-आबरू नहीं होती....
जब से तू रूबरू नहीं होती....

वादा-ए-फ़र्दा पर अब ऐतबार नहीं होता....
इस जहां में हर कोई ग़मगुसार नहीं होता....
मैं कम आमेज़ ही रहता गर तुझसे ना मिलता तो....
महफ़िल जमाने की सब की ख़ू-बू नहीं होती....
जब से तू रूबरू नहीं होती....

ना-पुरसा है कोई और ना हीं पासे-हमराहा है....
दरीदा-लिबास हूं, ना साथ में साया है....
मेयारे-वफ़ा से कोई वास्ता तो रखना था....
हर फूल की किस्मत में क्यों खुशबू नहीं होती....
जब से तू रूबरू नहीं होती....
जाने क्यों तेरी जुस्तजू नहीं होती....

-

Show more
Like385Comment201Flag

Dronika Mahi
19 MAY AT 23:06

या तो मुझको जाने दे,
या फिर मुझको जीने दे...
यूं टुकड़ों-टुकड़ों में जीना,
अब अच्छा नहीं लगता...

कितने मौके, कितनी यादें...
कितने किस्से, कितनी बातें...
यूं कड़वाहट रोज़ ही पीना...
अब अच्छा नहीं लगता...

रात की तन्हाई, सुबह का क़रार...
इन चश्मों को चैन आये, जब हो तेरा दीदार...
यूं चाक जि़गर के सीना...
अब अच्छा नहीं लगता...

तुझे देखने की तलब, या यूं मिलने का सबब...
तुम मेरे लिए किसी सदफ़ जैसा, और मैं ठहरी एक सदक:
हाथ में मेरे, किसी और का हीना...
अब अच्छा नहीं लगता....

तू कभी बाराने रहमत, कभी बादे बहार सा...
मैं तुझ में ही कहीं खोई हुई, तू पूरा मुझमें क़ाबिज़ सा...
खुद से मुसालहत करना...
अब अच्छा नहीं लगता...

-

Show more
Like365Comment146Flag

Dronika Mahi
8 MAY AT 6:50

जुल्फ़ों की सरगोशी...
लबों की खामोशी...
नफ़स में तेरी ख़ुशबू...
और वो दस्त बोसी...
कुछ तो बाकी है, अभी भी तेरे मेरे दरमियां...

तेरे जिस्म की निकहत...
तेरी वफ़ा-ओ-उल्फ़त...
तेरे इश्क़ की सदाकत...
और तेरी मोहब्बत में मेरी मश्गूलियत...
कुछ तो बाकी है, अभी भी तेरे मेरे दरमियां...

तेरी शौके-आराइश...
मेरे इश्क़ की आजमाइश...
तू मेरे लिए किसी हुमा सी...
और मुझे तुझे पाने की ख़्वाहिश...
कुछ तो बाकी है, अभी भी तेरे मेरे दरमियां...

तेरी सदा जैसे हजार दास्तांँ...
तू मेरा माहताब मैं तेरा आसमां...
तू मेरे लिए बसंत की सहर...
और तेरे बिना मेरी हर सांझ जैसे ख़िज़ाँ...
कुछ तो बाकी है, अब भी तेरे मेरे दरमियां...

और ये जो कुछ, जो थोड़ा ही सही...रहेगा ही... हमेशा तेरे औंर मेरे दरमियाँ....

-

Show more
Like351Comment139Flag

Dronika Mahi
8 SEP AT 22:37

मेरी मुस्तक़िल महरूमियों पर भी मुझे उठा लेते हैं....
मेरे मोअल्लिम, मेरे बाबा, मुझे हर हाल में संभाल लेते हैं....!!

-

Show more
Like304Comment143Flag

Dronika Mahi
2 APR AT 18:34

ख़्वाबिदा चश्मों मे तिरा यूं रोज़ो-शब आना...
मुज़तर कल्ब को यूं हर दफ़ा बहलाना...
बारे खु़दाया । नासज़ा है अब तो...
बन्दे-इश्क से मेरा यूं रिहा हो जाना...

-

Show more
Like267Comment80Flag

Ashish Awasthi
13 JAN AT 12:37

उनके चुप रहने से ग़म-ए-दिल कम नहीं होता
मेरा ख़ामोशी पढ़ने का हुनर दर्द बहोत देता है।।

-

Show more
Like201Comment49Flag

Aasifa Khanam
20 MAY AT 4:23

Tere rakibon ki mahfil me intekhab kiya h tera
kisi na-mehram ke khayal se khalis rakha h dil mera

-

Show more
Like170Comment67Flag

Dronika Mahi
15 JAN AT 23:28

सोज़, जफ़ा, ख़लिश, अज्जियत, आह-ओ-ज़ारी..
सहरा-ए-तमन्ना मे रुस्वा इज्तेराब था..
पिंदारे मुहब्बत कहो या कहो बेख़ुदी-ए-शौक..
इस गर्दिशे अय्याम मे वो ही कफ़े-सय्याद था....

-

Show more
Like167Comment55Flag

Fetching #urdushayari Quotes

Trending Videos
Fetching Feed..