#mark

1639 quotes

"लाल निशान"
(👇अनुशीर्षक पढ़े👇)
(👇Read in Caption👇)

कैसा समाज है हमारा हर माह दिखे चादर पर लाल निशा तो अपवित्र ठहरा दिया जाता है, सुहाग की बेल पर दिखेबलाल निशान तो उसे पवित्र मान लिया जाता है, ऐसा समाज है हमारा।। मेरे इस लेख से किसी भाई बहन मित्र को कोई आपत्ति हो तो माफ़ी का जाचक हूँ अनजान समझ कर माफ करना।।🙏🙏 "लाल निशान" कैसा समाज है अपना चादर पर खून के लाल निशान को भी शगुन अपशगुन से जोड़ता है, पल में पवित्र समझता है जिसे दूजे ही पल अपवित्र बना देता है, मिले जब लाल निशान हर माह तो उसे अपशगुनी अपवित्र बना देता है, वही दूजी ओर सुहागो वाली रात लाल निशान की राह ताकता है, मिले अगली बेला जब लाल निशान तो उसे पवित्र मानता है, कैसा समाज है ये हमारा औरत जात को नहीं पहचानता है, जिससे है पहचान तेरी तू उसी पर सवाल उठता है, उसी औरत जात को कभी पवित्र कभी अपवित्र बताता है, क्या गुनाह है उसका इसमे ये क्यों नही बताता है, एक औरत की पीड़ा को क्या तू कभी समझ पाता है, जिस लाल निशान पर तु उसे अपवित्र अपशगुनी ठहराता है, असल मे वही तेरे होने का वजूद कहलाता है, फिर तो तू भी अपवित्र अप्शगुणा कहलता है, जान पहले गहराई इस लाल निशान की फिर बोल, फिर तु कुछ क्या कहेगा तू ही शर्मसार हो जाता है, फिर तू ही शर्मसार हो जाता है।। #yqbaba #yqdidi #yqpowrimo #periods #मासिकधर्म #red #mark #pchawla16

11 JAN AT 0:50