Upload Video

#challenge

128301 quotes

YourQuote
YourQuote
मे हमने भी जा कर देखा है,वहाँ हर इंसान खुद को इश्क़ मे डुबाकर बैठा है .....

दिल की बातें ग़ज़ल बनाओ यारो इस महफ़िल में आओ। ग़ज़ल की इस महफ़िल में आप का स्वागत है। हमें उम्मीद है #ग़ज़लनामा के माध्यम से आप ने ग़ज़ल लिखना ज़रूर सीख लिया होगा। अगर अच्छे से नहीं भी आया है तो भी एक बार कोशिश कर के देखने में क्या बुराई है। कुछ पंक्तियां जिन को आधार बनाकर आप ग़ज़ल लिख सकते हैं। 1. इक मोहब्बत का दिया दिल में जलाये रखना बुझाये रखना, बचाये रखना 2. आप के आने से दुनिया ख़ूबसरत हो गयी है ज़रूरत हो गयी है, मोहब्बत हो गयी है 3. कितना अच्छा सपना था देखा था, सोचा था, अपना था 4. ज़िंदगी को पास जा कर देखिये जलाकर देखिये, उठा कर देखिये, लगा कर देखिये रदीफ़ क़ाफ़िया की अधिक जानकारी के लिए आप ग़ज़लनामा देखें। #महफ़िलेग़ज़ल #yqdidi #challenge #YourQuoteAndMine Collaborating with YourQuote Didi

                    है!
अपना नाम है,  अपना सोच है
पर इसमें आए कभी 
दुसरो का नाम तो 
जीना मुश्किल है!!

ख़यालों की तितली बड़ी तेज़ भागे पकड़ लो उसे इक ज़रा बढ़ के आगे। एक एक ख़्याल बड़े काम का होता है कभी कभी। सिर्फ़ एक पंक्ति में अचानक आये ख़याल को पकड़ें। #एकपलकाकोट #challenge #YourQuoteAndMine Collaborating with #YourQuote Didi#yqbaba#yqsahitya#yqhindi#upasanalahkar

भी न गवारा है इस दिल को की सामने आ जाओ , समेट लू तेरे रूह को

ख़यालों की तितली बड़ी तेज़ भागे पकड़ लो उसे इक ज़रा बढ़ के आगे। एक एक ख़्याल बड़े काम का होता है कभी कभी। सिर्फ़ एक पंक्ति में अचानक आये ख़याल को पकड़ें। #एकपलकाकोट #yqdidi #challenge #YourQuoteAndMine Collaborating with YourQuote Didi

ज़िन्दगी को जगा के देखिए
जरा हाल-ए-दिल सुना के देखिए
कभी गम अपना भुलाकर देखिए
एक सफर जो है साथ अपना
कभी साथ चलके देखिए

दिल की बातें ग़ज़ल बनाओ यारो इस महफ़िल में आओ। ग़ज़ल की इस महफ़िल में आप का स्वागत है। हमें उम्मीद है #ग़ज़लनामा के माध्यम से आप ने ग़ज़ल लिखना ज़रूर सीख लिया होगा। अगर अच्छे से नहीं भी आया है तो भी एक बार कोशिश कर के देखने में क्या बुराई है। कुछ पंक्तियां जिन को आधार बनाकर आप ग़ज़ल लिख सकते हैं। 1. इक मोहब्बत का दिया दिल में जलाये रखना बुझाये रखना, बचाये रखना 2. आप के आने से दुनिया ख़ूबसरत हो गयी है ज़रूरत हो गयी है, मोहब्बत हो गयी है 3. कितना अच्छा सपना था देखा था, सोचा था, अपना था 4. ज़िंदगी को पास जा कर देखिये जलाकर देखिये, उठा कर देखिये, लगा कर देखिये रदीफ़ क़ाफ़िया की अधिक जानकारी के लिए आप ग़ज़लनामा देखें। #महफ़िलेग़ज़ल #challenge #YourQuoteAndMine Collaborating with #YourQuote Didi#yqbaba#yqsahitya#upasanalahkar