#intercaste

30 quotes

माँ कहती है-
बेटा तुम एडजस्ट नहीं कर पाओगी उनके परिवार में, 

क्या माँ तुमने ये तब भी सोचा था जब उस बड़े शहर में मुझे अकेला छोड़ आयी थी? 


(Full Poem In Caption)

माँ कहती है- बेटा तुम एडजस्ट नहीं कर पाओगी उनके परिवार में, क्या माँ तुमने ये तब भी सोचा था जब उस बड़े शहर में मुझे अकेला छोड़ आयी थी? वो हमसे नीची जाति का है, रंग में तुझसे काला है, बहले कमाता है पर रहने वाला वो बिहार का है। पर माँ रंग तो भाई का भी सांवला है, और नीची जाती को भी आपने हमेशा साथ बैठाकर खाना खिलाया है। बिहार,असम और क्या महाराष्ट्र, वो तो भारतीय सेना का जवान कहलाता है। बेटा समझने की कोशिश कर ऐसे कैसे अनजान लड़के से बिहा दे? उसका परिवार कैसा होगा.. उनके रीति रिवाज अलग होंगे तू तो मंदिर भी नहीं जाती, और उनके यहाँ तो पूजा पाठ बहुत होगी! माँ ,आप जितना तजुर्बा नहीं है, मगर 10 साल की जान पहचान में कोई अनजान नहीं होता खुद को बदल देना ही ,शादी नहीं होता और मंदिर मैं कल भी नहीं जाऊंगी लेकिन उसको जाने से मना भी नहीं करूंगी बाहर बैठकर सफ़ेद वाली बर्फी काहलूंगी मैं, माँ! बेटा अगर तुम्हारी शादी किसी और जाति में हो गई, तो चार लोग क्या कहेंगे, लोगों के ताने मुझे और तेरे पापा को जीने नहीं देंगे!! माँ जब मैं पैदा हुई थी, तब क्या उन चार लोगों ने ही मेरा नाम रखा था। जब आप मेरे लिए पहली शॉर्ट स्कर्ट लायी थी और मुझे हर तरह के कपड़े पहने की आज़ादी थी, तब उन चार लोगों से पूछा था? जब मैं बीमार होती थी, जब कॉलेज को फीस जाया करती थी, और अपने बर्थडे पर नयी ड्रेस लिया करती थी तब क्या उन चार लोगो ने पैसा दिया था? माँ ,जब आपने अपनी हर ख्वाहिश छोड़ कर हमारी परवरिश की थी जब पापा ने 30 साल बाहर की नौकरी की थी तब वो चार लोगों ने क्या कहा था? माँ ,वो चार लोग हमारे कभी नहीं थे... ना होंगे! वो कहेंगे...बिना बात के भी कहेंगे! उन चार लोगों के लिए अपने लोगों का दिल मत दुखाना माँ ।। #yqdidi #yqbaba #intercaste #marriage

YESTERDAY AT 23:07

Walking down the stairs 
As she moved towards him
She knew it was a perfect wedding 
It was not about the destination 
It was not about the dress 
she was wearing 
It was all about him
It was about the two families 
standing together supporting 
their inter caste marriage ❤

#yqbaba#intercaste#marriage #bride#feelings

4 JAN AT 16:03

Ye zindagi ka haseen sa safar
Kat jata hai kuch haseen lamho k sahare
Kuch sang tmhare kuch bina tmhare !! 


Kabhi kuch lafz naasoor ban chubhte hai zindagi bhar 
Kbhi alfaz dil mein utar jate hai sare
Ye to bas zindagi ka khel hai doston
Wo jeet gya jo smjha iske ishaare !! 


Socha tha sahi waqt aane par
Jaahir krenge apne iraade 
Lkin iss waqt k chakkar mein
Tum ho gye kisi aur k aur hum reh gye tmhare !! 


Socha tha sari umar bitayenge ek dusre k sahare
Lkin is mandir masjid k bhed ne
Chheen liya hmse sb kuch
Or jati - pati kar di naam hmare !!  

Kya bhala kisi k chehre par 
Hota hai jaati ka pramaan patra? 
Hmne to bas unki aankhe dkhi thi 
Or wo hume lgne lge the pyaare !!

#pureluv#YQbaba #YQdidi #intercaste#noworries

10 OCT 2017 AT 1:11