QUOTES ON #मातृभाषा

New to YourQuote? Login now to explore quotes just for you! LOGIN

#मातृभाषा quotes

Trending | Latest
Anjula Singh Bhadauria 13 SEP 2017 AT 12:18

मातृभाषा

आज इस विषय पर मैं अपने जीवन के कुछ खास अनुभव बाँटना चाहूँगी...

-


Show more
387 likes · 43 comments · 10 shares
Anuup Kamal Agrawal 21 FEB 2018 AT 11:10

मातृभाषा को मित्रभाषा बनाएँ
मात्रभाषा बनाकर मृतभाषा न बनाएँ

-


244 likes · 32 comments · 10 shares
Divya Bhagwani 14 SEP 2017 AT 11:36

मैं कुछ लिख रही थी।
अचानक हमारी मातृभाषा हिन्दी।
हिन्दी दिवस पर मुझसे मिलने आई।
उसने मुझे गले से लगाया
और मैने उसे जन्मदिन की दी बधाई।
अचानक फूट फूट कर रोने लगी
मैंने बहुत पूछा क्यों रो रही हो।
आज तुम्हारा जनमदिन है।
लोग जनमदिन पर खुशियाँ मनाते हैं
और तुम रो रही हो।
बताओ क्या वजह है।
फिर हिंदी ने मुझे दिल का हाल सुनाया।
बोली मुझे कोई प्यार नहीं करता।
सब अपने लबों पर अंग्रेजी को सजा रहे हैं।
दिवाने है अंग्रेजी के, और मुझे भूला रहे हैं।
नन्हे बच्चों को भी good morning बोलना सीखा रहे हैं।
मेरा अस्तित्व मिट जायेगा।
मुझे कौन अपनायेगा।

More in caption




-


Show more
145 likes · 73 comments · 7 shares
Ankita Maran 4 JUN 2018 AT 9:00

कमाल हैं लोग भी,
हिंदी मातृभाषा पे ज्ञान इंग्लिश में देते है।।

-


130 likes · 20 comments · 1 share
Prasann Borkar 6 OCT 2017 AT 11:38

हिंदी है हम, हिंदुस्तान हमारा,
मातृभाषा है अपनी हिंदी,
ये जाने है जग सारा।।

अंग्रेजी ने कर दिया है,
हिंदी को कुछ बेसहारा।
फिर से हिंदी को महकाए,
ऐसा जो अब संकल्प हमारा।।

-


128 likes · 30 comments · 5 shares
Mahima Verma 21 FEB 2018 AT 14:20

मैं वो गहरी सी नींव हूँ जिसे तुम
खोखला करते जा रहे हो
अपनी दीवार की मजबूती दिखाने के लिए...

-


Show more
113 likes · 37 comments · 1 share
Anjula Singh Bhadauria 21 FEB 2018 AT 15:12

मातृभाषा
(संस्मरण अनुशीर्षक में पढ़े)

-


Show more
106 likes · 20 comments · 1 share
Subrat Anand 7 OCT 2017 AT 8:51

हिन्दी तेरी दशा से मैं स्तब्ध लगता हूँ
बगैर तेरे मैं तो निःशब्द लगता हूँ
भावों की गरिमा तुझसे ही तो है
तेरे होने से ही मैं खुद से जुड़ा लगता हूँ...!

ऐसी दशा क्यों है आज तेरी ?
क्यों हो रही आज इतनी अकेली ?
फंसे जा रहे सभी पश्चिमी सभ्यता में
तब ही तो है तू निढाल और अकेली

हिन्दी को यूँ निढाल देख रोने लगता हूँ..
अब तो समझो सभी से ये कहने लगता हूँ
क्यों नहीं समझते ये है अपनी हिन्दी
अपना गौरव और मातृभाषा है हिन्दी

जिसके गौरव को उत्थान दिया
माखनलाल और दिनकर जैसे कवियों ने
क्यों तुले हो इसे मिटाने ?
इनके अथक मेहनत, त्याग, बलिदान की छवियों को
करना है कुछ देश के खातिर
बस इतना ही मान दो
हिन्दी को अपने दिल से सम्मान दो
हिन्दी को फिर से दुनिया में पहचान दो..!!

Date:- 7 अक्टूबर 2017©©

-


Show more
105 likes · 34 comments · 2 shares
Subrat Anand 6 OCT 2017 AT 17:35

हिंदी अपनी पहचान है
हिंदी से ही सम्मान है
क्यों तुले हो मिटाने इसे ?
इससे ही तो
आन, बान और शान है..

रंग विदेशी रंग में तूने
विदेशी भाषाएँ चुन ली
कैसे भूल गए मातृभाषा अपनी ?
कैसे इसको तुम भूल गए ?

शर्मिंदगी होती है बोलने में तुझे
अपनी भाषा हिंदी को
कैसे भूल गए तुम ?
पहचान पायी थी हिंदी में..

धूमिल हो रही पहचान हिंदी की
अब तो सुधि लो सभी
हो फिर से कीर्तिमान हिंदी
इसका संकल्प लो अब सभी...!!

Date:- 6 October 2017©©

-


Show more
99 likes · 27 comments
Parul Tripathi 14 SEP 2017 AT 23:42

सम्मान है हिंदी, अभिमान है हिंदी,
भारतीय होने की पहचान है हिंदी।

-


Show more
98 likes · 25 comments · 11 shares
YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App