#जंग

86 quotes

आज शब्द मेरे बगावत कर रहे है,
आज फिर से दिल और दिमाग के बीच जंग हुई है।

#शब्द#बेचैन#मन#बगावत#जंग#दिल#दिमाग#hindiquotes#quotes#YQbaba#YQdidi#Yourquotes

YESTERDAY AT 18:31

दिल और दिमाग के इस जंग में मैं तुम्हें सुनता हूँ..
पर आज तो तेरे भी जुबां और नैन जंग में हैं..

#जंग#नैना

5 JUN AT 10:14

** पिता के अनकहे जज़्बात मैं लिखती हूँ **
**  ज़िंदगी के अपने हालात मैं लिखती हूँ  **

( कृपया आगे के भाव पढ़ने हेतू caption मे देखें)

अक्सर सोचा करते हैं, हर बार पापा हमें अकेला छोड़ जाते हैं, सारी परिस्थितियों की सामना करवाते हैं, किसी भी समस्या में साथ नही आते हैं, अक्सर सवालों के कटघ़रे में अकेला कर जाते हैं, जानें क्यूँ पापा ऐसा अक्सर कर जाते हैं, बचपन से लेकर आज तक बस यही सोचा करते हैं, क्यूँ पापा हमारे बचपन को भी बड़ों जैसा बनाते हैं? बड़ी-बड़ी समस्याओं में भी साथ नही दे पाते हैं, अब वे देते नहीं! या दे पाते नहीं? बस यही हम समझ नहीं पाते हैं...... पर सच कहें...... जब कभी हम ठोकर खाते हैं, उससे उबरने की होड़ में लग जाते हैं, गिरकर नये नये तरकीब से फिर उठने में लग जाते हैं धीरे धीरे समस्याओं को खुद से निजात दिलाते हैं और जब इस ज़ंग में हम जीत जाते हैं लोग हमारी बहादुरी पर तालियाँ बजाते हैं, और पीठ़ पर हाँथ रख, होठों पर मुस्कान ले हमें सहलाते हैं, उस वक्त हम पापा के छुपे जज़्बातों को समझ जाते हैं.......... की, हमें यूँ अकेला अक्सर क्यूँ पापा छोड़ जाते थें..... खुद खाकर ठोकर उठ पाऊँ, स्व-कदमों के सहारे चल पाऊँ, कभी न किसी से कोई आस लगाऊँ, और अपने पापा का गुमान बन जाऊँ.......... शायद यही सोच हर बार पापा हमें अकेला छोड़ जाते हैं.........@नेह@ धन्यवाद! *पिता के अनकहे जज़्बात* #yqdidi#yqbaba#yqbhaijan#YoPoWriMo#mythoughts#life#love#Bestofyourquotepoetry#गुमान#समस्या#जंग#बचपन#तरकीब#राजू रंजन भाईजी#tmpd#पापा

1 JUN AT 17:02

जिंदगी की जंग बड़ी कमाल की होती है गाल़िब,

जो गिरना भी सिखाती है,

और गिरकर उठ़ना भी सिखाती है.........

#ज़िंदगी#जंग#yqdidi#yqbaba#mythoughts#life#love#writinggyan#लेखनज्ञान#गिरना#उठना#YoPoWriMo#Bestofyourquotepoetry

1 JUN AT 5:58