Sheikh Rashid   (Sk. Rashid)
810 Followers · 137 Following

read more
Joined 4 November 2017


read more
Joined 4 November 2017
Sheikh Rashid 59 MINUTES AGO

या मेरे रब, खयाल रखना हर उस शक्स पर....!
जो रोज़ी रोटी में निकला हो, दिल से रोज़ा रख कर....!!

-


Show more
10 likes · 1 comments
Sheikh Rashid AN HOUR AGO

याद आया मुझे...?

उसके ही पडौसी ने ही
कहा था, मुझसे...???

ज़िन्दगी में दो चीज़ो पर
विश्वास मत करना...!

1. रास्ते पर खड़े जानवर का....!
2. जिस इंसान पर ज़्यादा
भरोसा हो, और वो तुमसे दूर
कुछ वक्त के लिए गया हो....!!

-


Show more
9 likes
Sheikh Rashid YESTERDAY AT 3:57

लिखने को अल्फाज़ नहीं हैं मेरे पास...!
किसी ने काफ़ी वक्त से, दिल को दुखाते चला आ रहा कोई...!!


-


16 likes
Sheikh Rashid 25 MAY AT 0:28

कोई तो उनसे कह दो...???
प्यार, मोहब्बत, दोस्ती, ज़िंदगी में तब करना
जब निभाना सिख लो...!
मजबूरियों का सहारा लेकर छोड़ देना
वफ़ादारी नहीं होती ...!!




-


14 likes
Sheikh Rashid 24 MAY AT 23:26

एक नज़र ए करम
हम पर भी थोड़ा करिये...!
अपने झूठे लफ्जों के साथ,
your quote से
दफ़ा हो जाईये...!
जाओ,जाओ उनके पास
जिनके सीने पर हाथ तुम
रखते हो...!!
और तब भी शर्म न आये
तो झूठे अल्फाज़ के साथ
बने रहिये....!!!



-


11 likes
Sheikh Rashid 24 MAY AT 6:07

क्या शिकायते करना
उन लोगों से...?
जिनके दिलों में
इंसानियत का
अहसास ही ना हो...!!

-


17 likes
Sheikh Rashid 24 MAY AT 5:33

ये ज़िन्दगी हैं नादान, इसलिए चुप हूँ...!
दर्द ही दर्द हैं सुबह शाम, इसलिए चुप हूँ...!
कुछ लोग जो मागते हैं मुझसे, मेरे बीते सालों का सबूत....!
सोचता हूँ.... लिख दूँ सारे जहान के सामने अपनी दास्तान....!
लेकीन.... आयेगा उसका नाम, इसीलिए चुप हूँ....!

-


13 likes · 1 comments
Sheikh Rashid 24 MAY AT 5:06

अजीब सी लगती हैं, ये शाम कभी कभी....
ज़िन्दगी भी लगती हैं, बेजान कभी कभी....
समझ आये तो हमें भी बताना, मेरे दोस्तो....
क्यूँ करती हैं, यादें परेशान हमें, कभी कभी....

-


13 likes
Sheikh Rashid 23 MAY AT 19:36

ज़िंदगी में जब कोई इन्सान, दूसरे इन्सान पर
खुद से भी ज़्यादा उस पर भरोसा करता हैं,
तभी उस इन्सान पर अपना हक़ भी जताया करता हैं...!!

-


17 likes · 2 comments
Sheikh Rashid 22 MAY AT 4:01

आज दिल गवारा नही करता, अब उन पे यकीन करने को...!
जिसका चेहरा कुछ और, अल्फाज़ कुछ और कहतें हैं...!!

-


16 likes

Fetching Sheikh Rashid Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App