कोई दीवाना कहता हैं, कोई पागल समझता हैं,
मगर धरती की बेचैनी को बस बदल समझता हैं !!

Koi deewana kahta hai

1 NOV AT 7:29