Shahid Shaikh  
26 Followers · 60 Following

✍️
Insta :- ShahidShaikh 341
Joined 9 May 2019


✍️
Insta :- ShahidShaikh 341
Joined 9 May 2019
Shahid Shaikh 18 AUG AT 22:06

INTEZAAR....
lambaa intezaar jo mujhe dard ke alava aur Kuch nahi dene wala .
Magar tera intezaar karna mera farz hai kyu ki tujhse mohobbat jo ki hai hala ki tumne nahi ki ....

-


10 likes · 2 comments
Shahid Shaikh 17 AUG AT 20:23

जो मेरे आसुओं के निकलने से पेहले ही मेरे दर्द की वजह बता देती थे ।
एक तुम ही तो थे जो मुझे बेइंतेहा चाहती थी ।
पर पाता नहीं क्यों तुम भी इस दुनिया कि तरह बदल गई ।अब तो तुम्हारी हर बात याद आती हैं
पर फिर भी दिल नहीं मानता के तू किसी और को चाहती है ।

-


Show more
8 likes · 2 comments
Shahid Shaikh 30 JUL AT 21:25

Uss tishnagi ne mujhe deewana kar diya tha
Tumhare jaane ke baad pata chala zindagi kaise jii jaati hai !

-


Show more
10 likes · 3 comments
Shahid Shaikh 30 JUL AT 21:17

अब मानता ही नहीं के तू किसी और को चाहता है
ये मन अब भी तूझे अपनी हर दुआ में मांगता है
तेरे दिए हुए हर दर्द की आदत सी हो गई थी
अब तो उस दर्द के लिए भी ये मन तरसता है !

-


Show more
3 likes
Shahid Shaikh 12 JUL AT 22:22

उसने कहा मैं तुमसे सबसे ज्यादा प्यार करती हूं
बगल मे खाड़ी मेरी माँ मुस्कराने लगी ☺️

-


11 likes
Shahid Shaikh 10 JUL AT 20:36

दिल से निकाले नहीं निकलते
और एक उनका दिल है जिसमें हम एक पल नहीं ठहरते!

-


Show more
10 likes · 3 comments
Shahid Shaikh 14 JUN AT 11:16

तूझे चाहने की चाह में
मैंने खुदको गवां दिया

-


11 likes
Shahid Shaikh 4 JUN AT 0:28

हमे जाते हुए देख उन्होंने
टोका भी नहीं
शायद उन्हें हमारी मोहॉबात का अंदाज़ा ना था
इसलिए उन्होंने हमारे दिल के बारे में सोचा भी नहीं

-


Show more
10 likes · 2 comments
Shahid Shaikh 30 MAY AT 23:29

बारिश का इंतज़ार इस ज़मीन को पूरे साल रेहता है!
उस ही तरह जैसे मेरे दिल की ज़मीन को तेरी मोहोब्बत का इंतज़ार रहता है पूरे साल!

-


Show more
9 likes · 2 comments
Shahid Shaikh 29 MAY AT 2:41

मुकम्मल मेरी हर शायरी तु करता है
बस इतनीसी एहमियत तु रखता है!

-


16 likes · 3 comments

Fetching Shahid Shaikh Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App