18 NOV 2018 AT 20:18

रोते रोते 'नाचीज' हमें हंसना आया,
ऐ महफिल तेरा शुक्रिया तूने हमें जीना सिखाया।
दिल के अहसास को उतार कागज पे,
आज मुकाम 11 हजार का पाया.......

Guys thanku for your blessings..
It's a long journey but your support made it easy to me , love you all.

- ❤'नाचीज़ सूफियाना'✍