Saurabh Bhardwaj   (❤'नाचीज़ सूफियाना'✍)
10.5k Followers · 1.2k Following

read more
Joined 4 July 2017


read more
Joined 4 July 2017
28 SEP 2017 AT 13:52

Khud ko khud mei dhundhna to iktarfa gunah hei.
Mai.n basaoo tujhko khud mei tuu basaye mujhko khud mei.
Doondna nhi Dono rooho ko milkar ishq ki dunia mei khona hei.

-


28 SEP 2017 AT 12:07

Labo.n pe sharm o haya ke pahre hei.
Kabhi padh khamoshi miri aankho ki.
Dhadkano mei ishq ke jajbe kitne gahre hei.

-


28 SEP 2017 AT 11:50

साहेब जिंदगी का नाम समझौता है।
औऱ समझौता मुहब्बत नहीं होता।


-


28 SEP 2017 AT 9:31

Vo bhi rishta aage rakhna chahte the.
Magar Ham ishq e gahraayi chahte the.
Vo bas hamein yaki.n dilwana chahte the.

-


28 SEP 2017 AT 9:06

'नाचीज' भरोसे तो दुनियांदारी भी दिलवा दिया करती है।
धोखा राह ए झूठ है क्योंकि मुहब्बत पैदा सच से होती है।

-


28 SEP 2017 AT 6:52

अष्टम दुर्गा स्वरूप देवी महागौरी भाग्य में जो नहीं लिखा उसे भी देने वाली हैं।हे जगत कल्याणी जग की किस्मत में इंसानियत लिख दो युग में ये गुण दुर्लभ सा हो गया है। जय माता दी।

-


27 SEP 2017 AT 23:41

ए दोस्त अपनी दौलत शौहरत तुम रखो।
'नाचीज' हमें बस गम बांटने का हक दे दो।

-


27 SEP 2017 AT 23:31

ए दोस्तो महफिल आबाद हमारे दम से है।
तुम आबाद हमसे औऱ हम आबाद तुम से हैं।

-


27 SEP 2017 AT 20:55

Rajneeti ne Gar sayaahat ghati mei ugaai hoti.
Jamii e jannat fir se abaad ho gai hoti.

-


27 SEP 2017 AT 18:45

Soch soch ke soch kr soch ka pichha chhod dia.
Pr khyaal besharm huye pichha nhi chhorte.

-


Fetching Saurabh Bhardwaj Quotes