Ruchi   (इस्क्रा🎈)
3.0k Followers · 84 Following

दो चार लफ्ज़ और ढ़ेर सारी ख़ामोशी।
Joined 6 June 2017


दो चार लफ्ज़ और ढ़ेर सारी ख़ामोशी।
Joined 6 June 2017
Ruchi 26 APR AT 22:58

इश्क़ में भला खुद्दारी का क्या काम,
वो इंकार की सूरत बनाये हुए थे! हम इज़हार कर आये।

-


Show more
113 likes · 39 comments · 4 shares
Ruchi 26 APR AT 21:28

जज़्बातों की स्याही से ख्वाइशों को,
सफ़हो पर उतार कर,
अब मैं जी लेती हूँ खुद में तुमको...

-


Show more
101 likes · 27 comments · 1 share
Ruchi 25 APR AT 13:15

मोहब्बत के नशे में पैमाना कौन देखता है,
पास हो जब मेहबूब तो मयख़ाना कौन देखता है?

-


101 likes · 31 comments · 2 shares
Ruchi 24 APR AT 22:31

जैसे शिव की जटाओं में गँगा...
ठीक वैसे ही बंधी हूँ तुम्हारे ख़्यालों में!

-


Show more
145 likes · 97 comments · 4 shares
Ruchi 31 MAR AT 8:59

ज़्यादा फासले अब भी नही है,
वो ख़ामोश है,दिल उदास है...

-


Show more
140 likes · 36 comments · 4 shares
Ruchi 30 MAR AT 19:42

तुझ संग उम्रभर का साथ माँगा था ख़ुदा से,
पर शायद...

-


Show more
110 likes · 28 comments · 8 shares
Ruchi 29 MAR AT 22:28

मैं अब पन्नों पर ही उकेर देती हूँ सारे ख़्याल,
...ताकि मेरे चेहरे पर कोई ना पढ़ पाए तुम्हें!

-


Show more
132 likes · 102 comments · 8 shares
Ruchi 25 MAR AT 22:45

ख़ामोशी के भीतर शोर घुले है,
बताना मुश्किल है,तुमसे कितने गिले है...
आँखे साफ है,बस कोर सीले है!

-


Show more
115 likes · 45 comments · 4 shares
Ruchi 24 MAR AT 20:55

हर इश्क़ दुआओं में क़बूल नही होता,
आग तो वहाँ भी लग जाती है,जहाँ धुँआ नही होता।

-


Show more
113 likes · 34 comments · 2 shares
Ruchi 23 MAR AT 23:13

रात चढ़ चुकी है चाँद के सहारे,
अब नींद भी मयस्सर होगी... शायद ख़्वाब के बहाने।

-


Show more
108 likes · 37 comments · 3 shares

Fetching Ruchi Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App