Rohit Shukla   (eloquent_empath)
3.8k Followers · 103 Following

read more
Joined 11 February 2018


read more
Joined 11 February 2018
Rohit Shukla 10 HOURS AGO

वो फूल तोड़ के फेंकते, और भी बाग़ खिलते हैं
नादाँ समझते नही, बीज फूलों में ही मिलते हैं...

~रोहित शुक्ला©

-


Show more
35 likes · 10 comments
Rohit Shukla 14 HOURS AGO

ज़रा बतला तो बड़ा अजब कानून दिखता है
तेरा ये रहमत का हाथ, मुझे नाखून दिखता है

~रोहित शुक्ला©

-


Show more
42 likes · 27 comments
Rohit Shukla 24 JAN AT 21:12

ग़र खून दौड़ता है रगों में तो खौलना चाहिए
हो गूँगे भी तो क्या, ज़मीर बोलना चाहिए...

'रोहित शुक्ला©'

-


Show more
52 likes · 20 comments
Rohit Shukla 24 JAN AT 16:47

...हाकिमों, मजबूर किया है उठाने पर कलम
खौफ़ खाओ के ये कैसा हथियार दे दिया...

~रोहित शुक्ला©

-


Show more
47 likes · 18 comments · 1 share
Rohit Shukla 23 JAN AT 12:55

रगों से रगों में...

लहु के इस सामान्य बहाव
से थककर बाहर आने
के संघर्ष को कहते हैं

'क्रांति'...

~रोहित शुक्ला©

-


Show more
44 likes · 9 comments
Rohit Shukla 23 JAN AT 0:19

ये काँच है, टूटा तो नसें चीर देगा
चूड़ियाँ पहनना कोई कमज़ोरी नही...

~रोहित शुक्ला©

-


Show more
78 likes · 24 comments · 3 shares
Rohit Shukla 22 JAN AT 21:54

ऐसे खुले नींद के फिर कभी ना आए
कल सुबह सुबह अख़बार पढ़ा जाए....

~रोहित शुक्ला©

-


Show more
51 likes · 10 comments
Rohit Shukla 22 JAN AT 20:05

कल रात जन्नत में खोया था
माँ ने बताया,
"तू मेरी गोद में सोया था"

~रोहित शुक्ला©

-


59 likes · 18 comments
Rohit Shukla 22 JAN AT 15:21

है दस्तूर, अब चोर महलों में बैठते हैं
हम ही से चोरी करके हमको बेचते हैं...

~रोहित शुक्ला©

-


Show more
54 likes · 16 comments
Rohit Shukla 22 JAN AT 11:45

रात किताबों पर सिर रख कर ही सो गए
जो आँखे खुली, हर्फ़ हमसे लिपटे थे...

~रोहित शुक्ला©

-


47 likes · 17 comments

Fetching Rohit Shukla Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App