RAJSHEKHAR VERMA   (©_SHEKHAR IMROZ / شکر امروز)
1.7k Followers · 7.2k Following

read more
Joined 29 January 2018


read more
Joined 29 January 2018
RAJSHEKHAR VERMA YESTERDAY AT 14:45

मैं आंखें बंद कर लूं वो मेरी आंखों में सजती है,
मैं गंगा घाट हूं और वो बनारस में बसती है।।
बहुत अंधेरा है प्रिये कहां लेके जा रही हो ...
सपने में आके अपने बाहों में खिंचती है।।

-


7 likes
RAJSHEKHAR VERMA 1 DEC AT 10:58

बहुत हुआ नारी पर वार
अबकी बार इसकी सरकार
तबकी बार उसकी सरकार ,
आंख थक चुकी हैं पढ़ के ऐसे समाचार...
कब तक ये सब करते रहेंगे यार ...
हम बस मांगते अपना अधिकार
बना दो नियम ला दो कानून
नियत समय उचित सजा ,सिर्फ दिन हो चार
इससे पहले कि नारी खुद थाम ले हथियार..

-


8 likes · 1 comments · 1 share
RAJSHEKHAR VERMA 29 NOV AT 10:38

अपने ज़हन में ये बात शुमार कर लो,
नहीं कोई चाहे तुम्हें , तुम जैसा
तो खुद से प्यार कर लो ...

-


14 likes · 1 share
RAJSHEKHAR VERMA 23 NOV AT 13:37

वर्तमान की स्वार्थलोलूप राजनीति
को देखकर ये कहा जा सकता है कि
इस लोकतंत्र के अब जनता के 'वोट'
की कीमत कुछ भी नहीं है।

-


9 likes
RAJSHEKHAR VERMA 19 NOV AT 12:01

आज सस्ती और अच्छी शिक्षा के खिलाफ खड़े लोग , आने वाली नस्लों को भैंस चरवा बना के रखना चाहती है।

-


9 likes
RAJSHEKHAR VERMA 14 NOV AT 11:54

College ke hostel mein roommates or dost nahi
Jigar ke tukde milte hain . Kabhi baap ban jaate hain , kabhi beta ban jaate hain aur kabhi bhai ban jaate hain .

-


14 likes
RAJSHEKHAR VERMA 8 NOV AT 20:36

पत्रकारिता ऐसी हुई कि नोट में चिप का अविष्कार हो गया,
गोडसे को देशभक्त कहा गया और गांधी का तिरस्कार हो गया।
सवाल पुछने और शास्त्रार्थ की परंपरा वाले भारत देश में
किसी को देशद्रोही कहा गया और किसी का बहिष्कार हो गया।।

-


17 likes
RAJSHEKHAR VERMA 8 NOV AT 15:12

तेरी याद और रोहित शर्मा की टाइमिंग।
जब भी आती है ना , जान हथेली पर
आ जाती है।

-


22 likes · 2 comments · 1 share
RAJSHEKHAR VERMA 7 NOV AT 17:39

बहुत से हुआ है मुझे प्यार,
काश ! किसी से करता इज़हार।
कर भी देता तो कब तक चलता
कभी ना कभी डुब जाता व्यापार।।

-


15 likes · 2 comments
RAJSHEKHAR VERMA 7 NOV AT 13:34

घर - मोहल्ले में औरतों - लड़कियों की इज्ज़त तो कर नहीं सकते , कहते फ़िर रहें हैं गाय हमारी माता है।

-


8 likes · 2 comments

Fetching RAJSHEKHAR VERMA Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App