Qasid Sultanpuri

11

quotes

57

followers

5

following

Qasid Sultanpuri (क़ासिद)

📝 | 🎶 | 📸 | 📚 उर्दू इश्क़ है, और हिंदी प्रेम। “आज़ादी लिखता हूँ, क़फ़स लिखता हूँ। जिस्मों की दुनिया में, मैं नफ़स लिखता हूँ।” ✍ आकाश तिवारी

Top tags: yqdidi hindi yqbaba hindipoetry poetry
जन्म भी, मौत भी,
हुआ जो उसके बीच भी,
सब जश्न है।

जश्न।
आने का, जाने का।

जश्न।
जगाने का, यहाँ लाने का।

जश्न।
सुलाने का, जलाने का।

ये सब,
एक जश्न ही तो है।

सच है, बहुत गम हैं। दिन भी, बचे कम हैं। जो राज़, ज़िन्दगी के हैं, गुम हैं। मौत देखती है, मुझमें डर है, आँखें नम हैं। सोचते सोचते, मैं भी पहँच गया, जहाँ आकर, सारे रास्ते, खत्म हैं। दर्द है, तपिश है। ये ज़िन्दगी, एक ख़लिश है। जब आज मैं, दोनो पाँव, कब्र में किये, बैठा हूँ। समझ आता है। ये सब एक जश्न है। जन्म भी, मौत भी, हुआ जो उसके बीच भी, सब जश्न है। जश्न। आने का, जाने का। जश्न, जगाने का, यहाँ लाने का। जश्न, सुलाने का, जलाने का। ये महफ़िल, दर्द की नही, हमेशा से ही, एक जश्न की थी। मैं पागलों सा, ग़म में डूबा, जब रातें सारी, जश्न की थीं। अब शायद, देर हो गयी है। मेरी जाने की, घड़ी हो गयी है। पर समझ आता है, ये मैय्यत नही, जश्न होगा। सब खुश होना, कोई रोना नही, ये सब, एक जश्न ही तो है। #yqbaba #yqdidi #jashn #zindagi #urdu #hindi #hindipoetry #poet

10 JAN AT 16:04