साईपूजा भारद्वाज "पंछी"   ("पंछी")
1.4k Followers · 24 Following

read more
Joined 19 November 2018


read more
Joined 19 November 2018

तुझ से फिर बात होगी या नहीं ये सोच कर परेशाँ नहीं हूँ मैं,
तू जान है मिरे किस हाल है तू यह सोच कर बेहाल हूँ मैं।

-


34 likes · 9 comments

बेशर्म ,बेहया, बदज़ात चाहें जो मर्ज़ी वो नाम दे,
तू तो कामिल है न ज़रा अपने गिरेबाँ में झाँक ले।

-


Show more
32 likes · 5 comments · 1 share

जहाँ कहीं भी देखो दूर तक सन्नाटा है,
मौसम-ए-गुल है वादी में बंदूकों का साया है।

-


Show more
34 likes · 21 comments

आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई
हम सब आभारी है उन शूरवीरों का क्रांतिकारियों का जिन्होंने अपनी जान की कुर्बानी दे कर हमें यह आज़ादी दी है। हम सब शुक्रगुज़ार है उन सैनिकों का जिन्होंने इस देश की हिफाजत की है और अभी भी अपना फर्ज अदा कर रहें है ।हम आभारी है उस किसान का जिसने धरती की कोख से हमारे लिए अनाज उगाया है। तो दोस्तों अपने वतन के लिए आप भी अपना फर्ज अदा करें । जात-पात धर्म से उपर उठ कर एक सच्चे हिंदुस्तानी की तर इस आज़ादी के उत्सव को मनाए ।
जय हिंद वन्दे मातरम् "पंछी"

-


30 likes · 8 comments

मेरे मरने पर उस शख़्स को इतला ज़रूर कर देना ,,,
किताबों में मशरूफ रहता है, अख़बारों में छपवा देना

-


46 likes · 6 comments

इतना आज़माइश, इतनी अज़ीयतें जो तू बख्श रहा है ख़ुदा,
कल को पशेमाँ न होना जो किसी और दर पे मिरा सर झुका।

-


Show more
47 likes · 23 comments

किस गलतफहमी में हो तुम कौन सी दौलत अर्जित कर लोगे,
जब जाओगे कब्र में ऐ दोस्त तुम साया तक अपना खो दोगे।

-


Show more
59 likes · 15 comments

ਬੇਰੁਜ਼ਗਾਰੀ ਨੇ ਕਲਮ ਫੜਾ ਤੀ, ਯਾਰ ਬਣ ਗਏ ਤੇਰੇ ਲਿਖਾਰੀ,
ਨ ਹੋਇਆ ਕੋਈ ਭਗਤ ਸਿੰਘ ਵਾਂਗ ਅਲਬੈਲਾ ਜਿਨ੍ਹਾਂ ਬਣਾ ਸੁਹਾਗਣ ਮੌਤ ਕਲੇਜੇ ਲਾ ਲੀ।

-


33 likes · 2 comments

हो जाता है कभी-कभी साहेब जवानी कहां रहती है इख्तियार में,
बिस्तर में लड़की हो या गुड़िया नज़र कहां आता है हवस के गुबार में।

-


Show more
40 likes · 13 comments

तमाशा-ए-इश्क तो साहेब अपने उरूज पर है,
देखना है वक़्त कितना लगता है सब्र के ज़वाल में।

-


Show more
41 likes · 10 comments

Fetching साईपूजा भारद्वाज "पंछी" Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App