Priya Gupta   (Priya(अल्फाज़) ✍️)
227 Followers · 11 Following

हर्फ इतनी शिद्दत रखिए कि शिद्दत को भी आपसे प्यार हो जाए..
Joined 10 September 2018


हर्फ इतनी शिद्दत रखिए कि शिद्दत को भी आपसे प्यार हो जाए..
Joined 10 September 2018
Priya Gupta YESTERDAY AT 20:33

अल्फाज़..

-


Show more
9 likes · 5 comments · 3 shares
Priya Gupta 10 APR AT 22:31

मोहब्बत रुठ जाए तो
उसे बाहों में ले लेना..
बहुत पास आकर तुम
उसे जाने नहीं देना..
वो दामन भी छुडाए तो
तुम उसे कसम दे देना..
दिलो के मामलों में तो
ख़ताए हो ही जाती है..
मगर तुम इन ख़ताओ को
बहाना मत बनने देना..
मोहब्बत अगर रूठ जाए
तो उसे प्यार से मना लेना..

-


15 likes · 3 comments · 1 share
Priya Gupta 9 APR AT 19:24

शायद तभी कई अपने बिछडे हो जाते हैं..
बहुत से छोड दिया करते हैं उम्मीद मगर
कुछ होते हैं जो फिर मिलने की आस में वहीं
रास्तों पर सो जाते हैं..

-


Show more
20 likes
Priya Gupta 9 APR AT 0:00

शायद कोई खुश-नसीबी रही होगी मेरी
जो मिल्कियत में तुम मिल गए..
वरना इस ज़माने में लुटे हुए को
बे-शुमार दौलत कहाँ मिलती है..

-


13 likes · 7 comments
Priya Gupta 4 APR AT 22:16

हमारी आंखों पर
भरोसा कीजिये सनम
गवाही तो अदालतें
मांगा करती है
कौन कहता है मोहब्बत
बर्बाद करती है
अगर निभाने वाले हो तो
दुनिया याद करती है..

-


12 likes · 4 comments
Priya Gupta 4 APR AT 0:13

होश वालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज़ है
इश्क़ कीजिये फिर समझिए जिंदगी क्या चीज़ है
उनसे नजरें क्या मिली रोशन फि़जाए हो गई
आज जाना प्यार की जादूगरी क्या चीज़ है..
जगजीत सिंह जी..

-


21 likes · 8 comments · 2 shares
Priya Gupta 2 APR AT 23:26

नहीं भूल सकते तो याद क्यूँ करते हो,
जो ना-मुमकिन है उसे बार-बार क्यूँ करते हो।।
अगर दिन भर मे तुम्हें सता जाती है वो कई बार,
तो तुम उसका ज़िक्र मन में कई बार क्यूँ करते हो।।
माना कि भुलाना मुश्किल है बहुत उसको,मगर
क्यूं तुम आज भी उसके लौट आने का इंतजार करते हो।।
शायद यहीं कहीं राहों में दिख जाए वो,
ये सोचकर क्यूं राहें बदल लिया करते हो।।
शायद उसकी कोई बचकानी सी बात पल भर में हँसा जाए, ये सोच क्यूँ हर शाम आंखे मूंद उसका दीदार किया करते हो।।
कि शायद वो हाल चाल ही पूछले, क्यूँ हर रात उसके मैसेज का इंतजार किया करते हो।।
हांँ, कितना भी मना लो खुद को मगर बेशक तुम,
आज भी उससे बेपनाह प्यार किया करते हो।।

-


16 likes · 7 comments
Priya Gupta 31 MAR AT 22:19

मांगने को तो बहुत
कुछ मांगलू तुमसे..
क्या दे पाओगे..?
अगर मैं तुम्हें ही मांग लूं..

-


14 likes · 2 comments
Priya Gupta 29 MAR AT 23:58

मालिक सभी के इश्क़ को मंजिल मिले
ये दुआ मत दे.. कोई नहीं मिल पाएगा,
गर.. इकतरफ़ा मोहब्बत ने अपना हक
मांग लिया..

-


10 likes · 4 comments
Priya Gupta 28 MAR AT 23:41

बहुत उम्मीदों से दीपक जलाएं थे
मगर हवाओं के झोंके तेज़ थे..
बुझ गए वो सारे दिये जो कभी
ख्वाहिशों की लौ से जले थे..

-


12 likes · 2 comments

Fetching Priya Gupta Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App