Priya Gupta   (Priya(अल्फाज़) ✍️)
243 Followers · 10 Following

हर्फ इतनी शिद्दत रखिए कि शिद्दत को भी आपसे प्यार हो जाए..
Joined 10 September 2018


हर्फ इतनी शिद्दत रखिए कि शिद्दत को भी आपसे प्यार हो जाए..
Joined 10 September 2018
Priya Gupta 22 HOURS AGO

उसे बिना बताए उसे छोड़ दिया
हाँ, मैने दोनों दिलो को यूहीं तोड़ दिया

बहुत जरूरी था गलतफहमियों को बढाना
उन्हीं ने तो कहानी को नया मोड़ दिया

खुदगर्ज नहीं हो सकती खुदा कसम वो मेरा नहीं
कुछ इसीलिए कहानी में खुद को बुरा बनाकर छोड़ दिया..

सही यही है कि न अब तकरीर हो, न सफाई हो
न फिर से मिलना हो न जुदाई हो..

-


7 likes
Priya Gupta 20 JUN AT 0:12

सुनो तुम मुझे अपने करीब बनाए रखो
न जाओ यूं दिल तोड़ कर मेरा,
मुझे अपना नसीब बनाए रखो..

तकरीर न करो कोई तुमसे ही मोहब्बत है
शक न करो एहतमात रखो,
मुझे अपनी ताबीर बनाए रखो..

मुफलिसी के शहर में बहुत है दिल
दुखा कर दर्द देने वाले,
तुम, उन सभी से दूर सुकून मे
अपना नाम दर्ज बनाए रखो..





-


11 likes · 2 comments
Priya Gupta 29 MAY AT 22:39

बचकानी हसी के पीछे छुपा
लिए है कई नासूर जख्म
अपनी जान किसी और को अमानत
में दे देना यूँ आसान तो नहीं..

-


6 likes
Priya Gupta 28 MAY AT 22:04

धीरे धीरे तुमको भी नजर आएगी
घड़ी चाहे 500 की हो या 5000 की
वक्त एक जैसा ही दिखाएगी..

जिस बाप की मेहनत पर हम सारे शौक
पूरे करना चाहते हैं कल उन्ही कागज़ के
टुकडों में अपनी मेहनत नजर आएगी..

अभी जिन बातों पर हम रूठ जाया करते
है बे-वजह मां-बाप से कल वही बाते अपने
बच्चों में सर दर्दी नजर आएंगी..

अनमोल है ये समय का पहिया जनाब
जिस जिंदगी के लिए सारी कशमकश है
एक दिन वही मर घट तक लेकर जाएगी।।

-


7 likes · 5 comments
Priya Gupta 27 MAY AT 14:48

किसीने न जाना,
सब ने अपनी अपनी
तकलीफों को भी
इस पर उढेल दिया..

-


Show more
16 likes · 2 comments
Priya Gupta 27 MAY AT 14:42

आंखो में आंसू देने वाले से
मोहब्बत हो, ये मामूली बात है..
मगर जिंदगी में साथ उसका होना चाहिए,
जो गर्दिश - ए - तकलीफों में भी हर किस्से को मुस्कुराहट बनाकर तुम्हें हसा सके..

-


14 likes · 2 comments
Priya Gupta 19 MAY AT 22:57

आजाद कर देना भी जरूरी है
कैसे समझाऊँ क्या मजबूरी है..
छोडना मैं तुम्हें चाहती नहीं
और छोड देना भी बहुत जरूरी है..
प्यार करती हूं तुमसे पर जता नहीं सकती
हूं खामोश.. बहुत कुछ बता नहीं सकती..
खुशी तुम्हारी मैं नहीं और हक मैं जता नहीं सकती..

-


Show more
11 likes
Priya Gupta 19 MAY AT 22:05

मैं उसे मांग पाती, किसी और को वो
सजदे में मिल गया..

-


Show more
9 likes
Priya Gupta 15 MAY AT 0:07

आंखो में आंसू ले कर के बिछड़े हैं
दोनों एक दूसरे की खुशी के लिए बिछड़े हैं,
दोनों ने मुह फेर लिया है एक दूसरे को
किस और का मान कर, ये जानते हुए भी
कि क्या आपस में बंधे दिल भी किसी और के हुए हैं, दोनों होठों से मुकम्मल दुआ देकर बिछड़े हैं..
हां,वो आपस में रज़ा लेकर बिछड़े हैं..
कुर्बानियों की फेहरिस्त में अपने इश्क़ को दर्ज कराने, हां, दोनों अपने दिलो की बलि चढ़ाने निकले हैं..

-


10 likes · 2 comments
Priya Gupta 12 MAY AT 7:58

"मां" प्यार भरा छोटा सा नाम, जो
लेती नहीं कभी विश्राम, बच्चों की खुशी के लिए हर खुशी छोड़ देती है.. हां, हर मां ऐसी ही होती है..।।

HAPPY Mother's Day ❤️

-


Show more
14 likes

Fetching Priya Gupta Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App