Harsha Singh

179

quotes

3546

followers

49

following

Harsha Singh 

अल्फ़ाज़ नहीं मैं जज़्बात लिखती हूँ ।

Top tags: yqbaba quotes yqdidi love let
अब याद नहीं आती तुम्हारी! 
( read in caption)

अब याद नहीं आती तुम्हारी जैसे पहले आया करती थी शामें बुझते ही हर रोज़ वो मुझे जलाया करती थी. ना जाने कितनी रातें बिताई हैं मैंने उसके साथ. मैं सपने बुनता था और वो मुझे उधेड़ जाया करती थी. अब याद नहीं आती तुम्हारी जैसे पहले आया करती थी मैं नहीं रोता था कभी वही मेरा सिरहाना भिगाया करती थी. मैं करवट बदलता था वो मुझे नोच खाया करती थी. कैसे क्या क्यों : ये सवाल अब भी हैं मुझमें. जिनके जवाब वो मुझे नहीं बताया करती थी. मैं मिटाता रहता था और वो तुमको मुझमें गोद जाया करती थी. पर अब याद नहीं आती तुम्हारी जैसे पहले आया करती थी एक रोज़ सौदा कर लिया मैंने उसके साथ. फिर वो कभी- कभी आकर मेरी रूह से तुम्हें थोड़ा सा निकाल जाया करती थी. तड़पता तो था मैं. बिलख उठता था. जब- जब वो तुम्हें नीचे गिराया करती थी. लेकिन अब कहाँ आती है याद तुम्हारी जैसे पहले आया करती थी. वो सांस लेना छोड़ दिया मैंने जिसमें तुम समाया करती थी. लौट कर मत आना. उसी तरह जैसे जब मैं तुम्हें बुलाता था पर तुम नहीं आया करती थी. लेकिन हाँ तुम ना सही तुम्हारी याद बहुत आया करती थी तुम्हारी याद बहुत आया करती थी. #YQbaba #memories

29 AUG AT 0:07