24 DEC 2018 AT 21:45

सपना देखते हैं पर कोशिश नहीं करते
आखिर सपना टूटने पर ही क्यूं जागते हैं लोग
रिश्ते बनाते हैं पर निभाना नहीं चाहते
आखिर क्यूं अपनो से ही दूर भागने हैं लोग

- Divyanchi gupta