Deepti Pandey  
3 Followers · 2 Following

Joined 13 May 2019


Joined 13 May 2019
Deepti Pandey 16 MAY AT 17:05

मुद्दतों बाद फिर दुःख मिला है,
शिकायत है खुद से,
ना तुमसे गिला है !

फर्क यह है-
कि अब आँसू बहते नहीं,
पलकों को इस सलीके से सिला है !

अब मधुवन की आस नहीं,
स्नेह सुधा की प्यास नहीं,
तपते मरूथल कानन में, नंगे पैर खूब चला है !

दीप्ति पाण्डेय 'दनिका'

-


21 likes · 2 comments · 2 shares
Deepti Pandey 15 MAY AT 16:28

मुझे पता थीं वो बातें,
जो तुम कभी बता नहीं पाते !

ना मैने कोशिश की तुम्हे शर्मिंदा करने की,
ना तुमने कोशिश की मुझे गर्वित रखने की !

लाख कोशिशें कर लो,
अन्तर्तम की पीड़ा छिपती नहीं !

बात इतनी सी है,
कि अब पहले सा कुछ भी नहीं !

दीप्ति पाण्डेय 'दनिका'


-


दनिका #firstquote

32 likes · 3 shares

Seems Deepti Pandey has not written any more Quotes.

Explore More Writers
YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App