Beena   (Been A Mystic)
2.8k Followers · 1.8k Following

read more
Joined 28 May 2018


read more
Joined 28 May 2018
Beena YESTERDAY AT 22:23

महज़ लिखने को तो कुछ नही
लिख सकती मैं कभी भी
खुद को अंदर तक
आरपार देख आयी मैं फिर
जम गए आँसूओ के अश्मी मिले
उस के आगे आक्रोश की अग्नि
बचे खुचे सपनों की राख का ढेर भी था
उस के आगे वीरान सा कोई जंगल
नित्य नियम से चलने वाली
जानी पहचानी एक आकृति भी देखी
फिर मिले कितने सारे छोटे छोटे बीज
प्रेम से प्रकाशित थे सब
किसी भी हृदय में आरोपित होने को
आतुर थे सब , फूल बन के मुस्कुराने को।

-


Show more
100 likes · 33 comments
Beena 18 JUN AT 15:52

Hi Gaurav ,

First let me wish you , A very happy Birthday 😊😊
Khush raho hamesha aur aise hi achcha likhte raho 😊

Well , aap ko exactly kaise padhna shuru kiya tha , yaad
Nahi mujhe , mostly from comment box or search section.
Jahan se bhi kiya tha but liked your
write-ups from very beginning.
Shabdo mein aur vicharo mein kaafi gehrai hai ,
Ye pata chal jaata hai aap ko padh kar 😊😊

Apart from that , I like introverts more 😊😊😀😀
As they've some more intuitions and inner callings.
As you're , walking silently and firmly on your path ,
With self satisfaction 😊😊 wishing you the same ,
In the journey called life. Again a bundles of
Good wishes and happiness , today n always 😊😊

-


Dedicating a #testimonial to Gaurav Sharma

85 likes · 17 comments
Beena 14 JUN AT 21:45

विचार हो चले विलुप्त
कैसे लिखूं पंच महाभूत।

-


Show more
122 likes · 24 comments · 3 shares
Beena 11 JUN AT 14:12

अनंत असीम विराट जगत का केंद्र
उसी केंद्र की विध विध अभिव्यक्ति
प्रखर , प्रणय , प्रलय , प्रचंड , प्राकृत
पृथक पृथक जीव , समर्थ सार्थक शिव।

-


😊😊

#yqbaba #yqdidi

150 likes · 41 comments · 1 share
Beena 9 JUN AT 9:52

बातें मेरी गूढ़ सी है और गुड सी भी
कठिन भी और बेहद मीठी भी ।

-


Just love this wallpaper. Thanks YQ.

#yqbaba #yqdidi #yqnature

144 likes · 39 comments
Beena 9 JUN AT 9:42

रूह तय ही नही कर पाती
उसे मुक्त रहना है वातावरण में
या बंधन में रहना है जिस्म आवरण में
इसी कश्मकश में वो चक्कर काटती है
जीवन और मृत्यु के , दिन रात का
चक्र चल रहा हो कोई ऐसे ही

-


Show more
110 likes · 28 comments
Beena 8 JUN AT 20:31

ये जो दुनिया है इक स्टेज है और ज़िंदगी नाटक
मगर वो क्या करे जिसको अदाकारी नहीं आती

-राजेश रेड्डी

-


Show more
126 likes · 26 comments · 3 shares
Beena 8 JUN AT 9:07

मन धरातल में भी भूकंप आते है
कम से बहुत ज़्यादा Richter scale के
बाहर की दुनिया चलती रहती है
पर अंदर सब अस्त व्यस्त सा हो जाता है
यादों की किरचें सूक्ष्म मन तक को चुभ जाती है
लहू और अश्रु का सम्मिलन स्वेद बन बहता है फिर
वक़्त के हाथों भले हार जाउँ और नेपथ्य से देखती रहूँ
लेकिन खुद से छल कपट का व्यवहार मैं कभी कर न सकूँ
मनःतमस को भेदता चीरता हुआ मौन फिर व्याप्त हो जाए
सारे प्रश्न उसी में घुल कर फिर रोशनी सी कर जाए ।


-


Show more
108 likes · 30 comments
Beena 2 JUN AT 13:02

पढ के जिन्हें मिलता है सुकूँ
जन्म दिवस की आप को खूब
शुभेच्छा , अंजू 😊😊

-


Show more
119 likes · 30 comments
Beena 31 MAY AT 21:58

वक़्त लेता रहा करवट करवत की तरह
हम बस देखते रह गए मुरव्वत की तरह।

-


Show more
127 likes · 32 comments

Fetching Beena Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App