Amir Siddiqui  
1 Followers · 5 Following

Joined 2 March 2021


Joined 2 March 2021
3 MAR 2021 AT 23:28

नफरत करते तो उनकी अहमियत बढ़ जाती ! हमने माफ करके शर्मिंदा कर दिया

-


3 MAR 2021 AT 23:17

की बड़ी मुश्किल से मिला हूं मैं खुद से दिल की बातों पर मैं भरोसा नहीं करता

-


3 MAR 2021 AT 0:04

अगर, दर्पण की तरह, आप मेरे महसूस कर सकते हैं। मैं आपके द्वारा खोई गई भावनाओं को वापस कर देता।

-


2 MAR 2021 AT 23:57

Jindgi hai muskurate rahiye

-


Seems Amir Siddiqui has not written any more Quotes.

Explore More Writers