Akanksha Singh   (AKANKSHA🌸)
8.5k Followers · 54 Following

read more
Joined 16 January 2020


read more
Joined 16 January 2020
29 MAY AT 15:30


एक रात निकाली थी तेरा साथ पाने को
तू उस रात ना जो आया मेरा साथ निभाने को
मैं थम गया वहीं कहीं खुद को गवाने को
तू उस रात ना जो आया मेरा साथ निभाने को

-


12 MAR AT 13:32

इश्क़.. जो नशा है उसे किए बिना मरना क्यों?
दर्द.. जो मज़ा है उसे जिए बिना मरना क्यों?

-


24 FEB AT 0:22


मेरे इश्क़ के सलीके पर सवाल उठा गया वो
उसने खुद की मनमानी और मुझे बेईमान बता गया वो

-


11 JAN AT 11:29


मंज़िल तो होगी ही खूबसूरत
मगर रास्ते खुशनुमा बनाऊंगा मैं
और चाहे कोई दे ना दे साथ मेरा
पर अपना साथ ज़रूर निभाऊंगा मैं

-


21 DEC 2020 AT 21:17


शायद यहीं तक लिखी गई थी हमारी कहानी
हां आज भी याद है मुझे प्यार की वो पहली निशानी
और शायद वो ना कहे अपनी ज़ुबान से
मगर इश्क़ तो उसको भी था मुझसे रूहानी

-


16 NOV 2020 AT 17:42


वो वक़्त से पहले मिला मुझे
इसलिए अपनी एहमियत खो बैठा
और
मैं वक़्त बीतने के बाद मिला उसे
इसलिए मेरी कोई कीमत न थी

-


13 OCT 2020 AT 15:09

कुछ इस कदर मुझे बेकरार कर गए वो
आज फिर सवाल के बदले एक सवाल कर गए वो

-


22 SEP 2020 AT 14:39

एक दफा फिर उसे देख कर मुस्कुरा दिया मैंने
होश दिल सुकून सब कुछ गंवा दिया मैंने

-


26 AUG 2020 AT 17:50

तू मुझ में बसता है कहीं
बस यही कह कर दिल को संभालता हूं
मैं जानता हूं
तू है किसी और की अमानत
मगर फिर भी ये दिल तुझ ही पे हारता हूं

-


13 AUG 2020 AT 19:51

इस कदर तोड़ा उसने मुझे की शायद अब कोई तोड़ नहीं सकता
और टूटे दिल के इन टुकड़ों को अब शायद कोई जोड़ नहीं सकता।

-


Fetching Akanksha Singh Quotes