आशुतोष तिवारी "प्रसिद्ध"   (प्रसिद्ध)
905 Followers · 545 Following

read more
Joined 21 June 2018


read more
Joined 21 June 2018

दिल की सल्तनत पर कब्ज़ा हुआ है।
एक तस्वीर से दिल उलझा हुआ है।

हार जाने का तो इरादा नहीं था मगर,
उसने आँखो पर हाथ रक्खा हुआ है।

मैं सोता भी हूं तो उसे देखने के लिए
और लोग कहते हैं सब भूला हुआ है।

-


28 likes · 15 comments

इस बात को उस बात से अलग रखूँगा।
तुझे दुनिया की हर जात से अलग रखूँगा।

एक बार मेरा हाथ थामहो, भरोसा करो,
मैं हर रात पिछली रात से अलग रखूँगा।

-


39 likes · 12 comments

क्यूँ बेवजह आँसू बहाया जाए।
मौत ज़श्न है चलो मनाया जाए।

खाना पीना,सोना जगना ही है बस,
इससे अच्छा तो मर जाया जाए।

(Read in caption)

-


Show more
30 likes · 27 comments

!! सरकारी लौंडा !!

(कविता पढ़े अनुशीर्षक में)

-


Show more
31 likes · 21 comments

सारे समान फिर से लौट आए दुकान में।
बस कफ़न ही कफ़न बचे हैं शमशान में।

कई दिनों से मैं इसी ख़याल में उलझा हूँ,
घर बनाने वाला ही क्यूँ पड़ा है दलान में।

कुछ पौधे सुख गए,कुछ उखाड़ दिए गए,
कह रहें है मच्छर आ जाते हैं मकान में।

इस बात को यही छोड़ो किस में क्या है,
बस एक सुकुन है आरती और अज़ान में।

भला किसे समझाऊँ और किसे चुप कराऊँ,
इंसान नहीं बसते हैं अब किसी इंसान में।

बस एक शोर और फिर सन्नाटा ही सन्नाटा,
चलो हम तुम मिलते है दुसरे ज़हान में।

-


Show more
45 likes · 45 comments · 2 shares

......

-


Show more
35 likes · 37 comments

दिल फिर एक बार हरा भरा होगा।
जब तू मेरा और सिर्फ़ मेरा होगा।

सारे अरमान दम तोड़ चुके हैं मेरे
अब बस आँसुओ का सिलसिला होगा।

बहुत शिद्दत से चाहा था उसको,
क्या पता था कुछ ऐसा वैसा होगा।

जरूरी नहीं प्यार मे बस प्यार मिले,
वरना फिर शायर कैसे पैदा होगा।

बिन आँसु रोना और बस लिखना,
ऐसे दर्द में भी बस प्यार भरा होगा।

-


Show more
42 likes · 24 comments

" तेरे जाने के बाद "
राहो से बात करता हूं,
तेरी खुशबू लगाता हूं,
फिजाओं से लड़ता हूं,
तेरे कदमों पर चलता हूं,
मैं खुद को मैं कहता हूँ ,
हम नहीं कहता,
तेरे जाने दो बाद.......२
(अनुशीर्षक पढ़ें)

-


Show more
43 likes · 18 comments · 1 share

!! एक गिलहरी !!
(अनुशीर्षक में पढ़ें)

-


Show more
35 likes · 23 comments

......

-


Show more
32 likes · 16 comments

Fetching आशुतोष तिवारी "प्रसिद्ध" Quotes

YQ_Launcher Write your own quotes on YourQuote app
Open App