Upload Video
Unknown Person

328

quotes

720

followers

53

following

YourQuote
YourQuote
9th part -
होश आया तो मैं हॉस्पिटल में था, 
और अन्नी सामने थी वो काफ़ी परेशान लग रही थी ! 
देखा तो मेरे हाथ और सिर पर थोड़ी चोट आई थी
पर ज़्यादा कुछ नुकसान नहीं हुआ था, डॉक्टर ने
कहा था कुछ दिनों के बाद डिस्चार्ज कर देंगे !
फिर वो कल रात को लेकर मुझसे माफ़ी माँगने लगी
मैने कहा, कोई बात नहीं पर हुआ क्या था ?
उसने कहा मैं शादी नहीं करना चाहती हूं अभी !
तो मैने कहा, बता देती ऐसे गुस्से में जाने की क्या
जरूरत थी !  "वो सॉरी बोलती रही और मेरे माथे को चूम कर बोली...आई लव यू अब तुम ज़्यादा मत सोचों बस आराम करो " मुझे कुछ काम है काम निपटा कर आती हूं अगर कुछ चाहिए हो तो मुझे कॉल करना ! मैने कहा ठीक है !उसके जाने के बाद मैं बस यहीं सोच रहा था कि बात इतनी सी नहीं है, कुछ तो बात है जो वो छुपा रही है अपने पास्ट को लेकर !
मैने तय कर लिया था की मैं पता लगा कर रहूंगा
आखिर बात क्या है ? कुछ दिनों बाद मैने उसकी जासूसी स्टार्ट की हालाँकि मैं ये नहीं करना चाहता था पर मुझे जानना था सब ! मैने देखा वो किससे मिलती है, कहाँ जाती है ? किससे बातें करती है सब !
नज़र रखने के बाद भी ऐसा कुछ ख़ास पता नहीं चला
फिर मैं उसकी फ्रेंड से भी मिला, जिसके साथ वो रह 
रही थी ! उसने कहा, उसे कुछ ज़्यादा तो नहीं पता बस 
वो उसे जब से जानती है जब वो कॉफ़ी शॉप पर उसके
साथ काम किया करती थी ! To be continued....

Description- read 1st part 9th part - होश आया तो मैं हॉस्पिटल में था, और अन्नी सामने थी वो काफ़ी परेशान लग रही थी ! देखा तो मेरे हाथ और सिर पर थोड़ी चोट आई थी पर ज़्यादा कुछ नुकसान नहीं हुआ था, डॉक्टर ने कहा था कुछ दिनों के बाद डिस्चार्ज कर देंगे ! फिर वो कल रात को लेकर मुझसे माफ़ी माँगने लगी मैने कहा, कोई बात नहीं पर हुआ क्या था ? उसने कहा मैं शादी नहीं करना चाहती हूं अभी ! तो मैने कहा, बता देती ऐसे गुस्से में जाने की क्या जरूरत थी ! "वो सॉरी बोलती रही और मेरे माथे को चूम कर बोली...आई लव यू अब तुम ज़्यादा मत सोचों बस आराम करो " मुझे कुछ काम है काम निपटा कर आती हूं अगर कुछ चाहिए हो तो मुझे कॉल करना ! मैने कहा ठीक है उसके जाने के बाद मैं बस यहीं सोच रहा था कि बात इतनी सी नहीं है, कुछ तो बात है जो वो छुपा रही है अपने पास्ट को लेकर ! मैने तय कर लिया था की मैं पता लगा कर रहूंगा आखिर बात क्या है ? कुछ दिनों बाद मैने उसकी जासूसी स्टार्ट की हालाँकि मैं ये नहीं करना चाहता था पर मुझे जानना था सब ! मैने देखा वो किससे मिलती है, कहाँ जाती है ? किससे बातें करती है सब ! नज़र रखने के बाद भी ऐसा कुछ ख़ास पता नहीं चला फिर मैं उसकी फ्रेंड से भी मिला, जिसके साथ वो रह रही थी ! उसने कहा, उसे कुछ ज़्यादा तो नहीं पता बस वो उसे जब से जानती है जब वो कॉफ़ी शॉप पर उसके साथ काम किया करती थी ! To be continued.... #कहानी #yqdidi #yqbaba #yqhindi #lovestory #thrillerstories #storyteller #unknown_person "अजीब ए दास्तान"

8th part-
मैने कॉल की उसे पर वो रिसीव नहीं कर रही थी,
मैं उसकी फ्रेंड के यहाँ भी गया जहाँ वो रह रही थी
पर वो वहाँ भी नहीं थी, और अब तो उसका फ़ोन
भी स्विचऑफ आ रहा था !
मुझे बड़ा गुस्सा भी आ रहा था मैने पता नहीं इस
दिन के लिए क्या क्या सोचा था पर सब बेकार !
फिर मैने एक दारू की बोतल ली और ड्राइव पर निकल गया, पीते-पीते गाड़ी चला रहा था और बस 
यही सोच रहा था कि मैने कुछ ग़लत तो नहीं करा
फिर ऐसा क्या हुआ ?
उसने ऐसा अजीब बर्ताब पहली बार नहीं किया था
एक बार भी कुछ ऐसा ही हुआ था, हम दोनों मॉल
गए थे शॉपिंग के लिए ! फिर अचानक उसने एक आदमी को वहाँ देखा और काफ़ी डर गई और कहने लगी,चलो घर चलो !मैने पूछा भी बात क्या है पर उसने बताया नहीं फिर हम वहाँ से चले गए थे शॉपिंग बीच में छोड़कर जब भी मैं उसके घर वालों या पास्ट के बारे में पूछता तो वो बात घूमा देती थीं पता नही क्यों !
मैं गाड़ी और तेज़ चलाने लगा, नशा दिमाग पर सवालों का वार किए जा रहा था !
पुरानी यादें भी याद आ रही थी कि कैसे मैं कार
चलाते हुए गियर बदलनें के बहाने उसका हाथ पकड़
लिया करता था और वो भी बस मुस्करा देती थी !
सब कुछ सही तो था, फिर उसने ऐसा क्यों किया ?
अचानक मेरी गाड़ी का बैलेंस छुटा ओर सामने वाले
पेड़ से गाड़ी जा टकराई और मैं बेहोश हो गया....!
To be continued...

Description- read 1st part 8th part- मैने कॉल की उसे पर वो रिसीव नहीं कर रही थी, मैं उसकी फ्रेंड के यहाँ भी गया जहाँ वो रह रही थी पर वो वहाँ भी नहीं थी, और अब तो उसका फ़ोन भी स्विचऑफ आ रहा था ! मुझे बड़ा गुस्सा भी आ रहा था मैने पता नहीं इस दिन के लिए क्या क्या सोचा था पर सब बेकार ! फिर मैने एक दारू की बोतल ली और ड्राइव पर निकल गया, पीते-पीते गाड़ी चला रहा था और बस यही सोच रहा था कि मैने कुछ ग़लत तो नहीं करा फिर ऐसा क्या हुआ ? उसने ऐसा अजीब बर्ताब पहली बार नहीं किया था एक बार भी कुछ ऐसा ही हुआ था, हम दोनों मॉल गए थे शॉपिंग के लिए ! फिर अचानक उसने एक आदमी को वहाँ देखा और काफ़ी डर गई और कहने लगी,चलो घर चलो !मैने पूछा भी बात क्या है पर उसने बताया नहीं फिर हम वहाँ से चले गए थे शॉपिंग बीच में छोड़कर जब भी मैं उसके घर वालों या पास्ट के बारे में पूछता तो वो बात घूमा देती थीं पता नही क्यों ! मैं गाड़ी और तेज़ चलाने लगा, नशा दिमाग पर सवालों का वार किए जा रहा था ! पुरानी यादें भी याद आ रही थी कि कैसे मैं कार चलाते हुए गियर बदलनें के बहाने उसका हाथ पकड़ लिया करता था और वो भी बस मुस्करा देती थी ! सब कुछ सही तो था, फिर उसने ऐसा क्यों किया ? अचानक मेरी गाड़ी का बैलेंस छुटा ओर सामने वाले पेड़ से गाड़ी जा टकराई और मैं बेहोश हो गया....! To be continued... #कहानी #yqbaba #yqdidi #yqhindi #storyteller #lovestory #thrillerstories #unknown_person "अजीब ए दास्तान"

7th part-
छ: महीने बाद मैने उसे प्रोपोज़ किया जो मैं पता नहीं कब से करना चाहता था और कब से सोच रहा था !
प्यार तो मैं उससे करता ही था और वो भी मुझसे प्यार
करने लगी थी, ये मैं जानता ही था !तो बस सही मौके की तलाश थी... तो मैने कहा अन्नी कल शाम को डिनर के बाद तुम्हारे लिए एक सरप्राइज है... अन्नी 
मैने उसका निक नेम अन्नी रखा था !
उसने कहा, क्या ? मैने कहा, सरप्राइज है जान बस
रेडी रहना ! उसने कहा, ठीक है... मैं भी बस तैयारी में लग गया फिर स्पेशल अरेजमेंट की !
म्यूजिक, कैंडल लाइट डिनर, ड्रिंक और प्रोपोज़ करने के लिए एक रिंग ! अगली रात हम होटल पहुँचे, वो काफ़ी एक्साइटड थी मेरी तरह ! शुरुआत में तो सब ठीक चल रहा वो काफ़ी खुश लग रही थी इंतजाम देखकर...हम दोनों अकेले थे पीछे म्यूजिक बज रहा था धीमे-धीमे ! उसने कहा, अरे सरप्राइज का क्या हुआ मेरे ? मैने कहा बस एक मिनट जान, रिंग निकली ओर कहा,
"अन्नी मैं बता नहीं सकता मैं तुमसे कितना प्यार करता
हूँ क्या तुम मेरी जिंदगी का हिस्सा बनोगी" ?
मैं सोच रहा था सब ठीक जा रहा है पर पता नहीं
क्यूं उसका मूंड एक दम चेंज हो गया और वो नाराज
होकर वहाँ से चली गई !
मैं उसके पीछे-पीछे गया पर इतने मैं वो वहाँ से निकल
चुकी थी, मेरी समझ नहीं आ रहा था कि हुआ क्या ?
To be continued....

Description- read 1st part 7th part- छ: महीने बाद मैने उसे प्रोपोज़ किया जो मैं पता नहीं कब से करना चाहता था और कब से सोच रहा था ! प्यार तो मैं उससे करता ही था और वो भी मुझसे प्यार करने लगी थी, ये मैं जानता ही था ! तो बस सही मौके की तलाश थी... तो मैने कहा अन्नी कल शाम को डिनर के बाद तुम्हारे लिए एक सरप्राइज है... अन्नी मैने उसका निक नेम रखा था ! उसने कहा, क्या ? मैने कहा, सरप्राइज है जान बस रेडी रहना ! उसने कहा, ठीक है... मैं भी बस तैयारी में लग गया फिर स्पेशल अरेजमेंट की म्यूजिक, कैंडल लाइट डिनर, ड्रिंक और प्रोपोज़ करने के लिए एक रिंग ! अगली रात हम होटल पहुँचे, वो काफ़ी एक्साइटड थी मेरी तरह ! शुरुआत में तो सब ठीक चल रहा वो काफ़ी खुश लग रही थी इंतजाम देखकर...हम दोनों अकेले थे पीछे म्यूजिक बज रहा था धीमे-धीमे ! उसने कहा, अरे सरप्राइज का क्या हुआ मेरे ? मैने कहा बस एक मिनट जान, रिंग निकली ओर कहा, "अन्नी मैं बता नहीं सकता मैं तुमसे कितना प्यार करता हूँ क्या तुम मेरी जिंदगी का हिस्सा बनोगी" ? मैं सोच रहा था सब ठीक जा रहा है पर पता नहीं क्यूं उसका मूंड एक दम चेंज हो गया और वो नाराज होकर वहाँ से चली गई ! मैं उसके पीछे-पीछे गया पर इतने मैं वो वहाँ से निकल चुकी थी, मेरी समझ नहीं आ रहा था कि हुआ क्या ? To be continued.... #कहानी #yqdidi #yqbaba #yqhindi #lovestory #thrillerstories #storyteller #unknown_person "अजीब ए दास्तान"

6th part-
मैने कहा, अरे नहीं उसने कहा क्यूं ? 
मैने कहा, बस यूंही... मैने कहा,
चलो मैं डिनर रेडी करता हूँ ! 
वहाँ वाशरूम है तुम फ्रेश हो जाओ इतने,
डिनर के बाद हमारी काफ़ी बात हुई, जैसे मैने पूछा उससे कि वो कब से रह रही है यहाँ और जॉब कहा करती थी इससे पहले ? उसने कहा, वो अभी कुछ महीने पहले ही यहाँ स्विफ़्ट हुई है और और लाइब्रेरी से पहले कॉफी शॉप पर जॉब करती थी ! मैने कहा चलो ठीक है अब ज़्यादा टेंशन ना लो ऊपर बैडरूम है, आराम से जाकर सो जाओ, मैं यहाँ सो जाऊंगा सोफे पर...!उसने कहा, सॉरी मेरी वज़ह से आपको भी दिक्कत हो मैने कहा,अरे नहीं मैं तो कहीं पर भी सो जाता हूँ फिर वो बोली उसकी एक फ्रेंड है कल वो वहाँ चली जाएगी ! मैने कहा,अरे कोई नहीं तुम जब तक चाहों जब तक यहाँ रह सकती हो कोई प्रॉब्लम नहीं है उसने कहा, गुड नाईट... मैने कहा, गुड नाईट आयशा !
उसके बाद वो अपनी फ्रेंड के यहाँ चली गई थी रहने।।
ये सब बातें याद करता हूँ तो लगता है मानों कल की ही बात हो ! 
खैर देखते ही देखते दिन बीतने लगे,
हमारी मुलाकात रोज़ लाइब्रेरी में होती ही थी और
मैं ऑफिस के बाद उसके साथ ज़्यादा वक्त बिताने लगा 
और डिनर मूवीज पर जाना भी आम हो गया था !
पता नहीं वो कभी-कभी बड़ा अजीब बर्ताब भी किया
करती थी, मैं सोचता था शायद कोई टेंशन हो इस वज़ह से !
To be continued...

Description- read 1st part 6th part- मैने कहा, अरे नहीं उसने कहा क्यूं ? मैने कहा, बस यूंही... मैने कहा, चलो मैं डिनर रेडी करता हूँ ! वहाँ वाशरूम है तुम फ्रेश हो जाओ इतने, डिनर के बाद हमारी काफ़ी बात हुई, जैसे मैने पूछा उससे कि वो कब से रह रही है यहाँ और जॉब कहा करती थी इससे पहले ? उसने कहा, वो अभी कुछ महीने पहले ही यहाँ स्विफ़्ट हुई है और और लाइब्रेरी से पहले कॉफी शॉप पर जॉब करती थी ! मैने कहा चलो ठीक है अब ज़्यादा टेंशन ना लो ऊपर बैडरूम है, आराम से जाकर सो जाओ, मैं यहाँ सो जाऊंगा सोफे पर...!उसने कहा, सॉरी मेरी वज़ह से आपको भी दिक्कत हो मैने कहा,अरे नहीं मैं तो कहीं पर भी सो जाता हूँ फिर वो बोली उसकी एक फ्रेंड है कल वो वहाँ चली जाएगी ! मैने कहा,अरे कोई नहीं तुम जब तक चाहों जब तक यहाँ रह सकती हो कोई प्रॉब्लम नहीं है उसने कहा, गुड नाईट... मैने कहा, गुड नाईट आयशा ! उसके बाद वो अपनी फ्रेंड के यहाँ चली गई थी रहने।। ये सब बातें याद करता हूँ तो लगता है मानों कल की ही बात हो ! खैर देखते ही देखते दिन बीतने लगे, हमारी मुलाकात रोज़ लाइब्रेरी में होती ही थी और मैं ऑफिस के बाद उसके साथ ज़्यादा वक्त बिताने लगा और डिनर मूवीज पर जाना भी आम हो गया था ! पता नहीं वो कभी-कभी बड़ा अजीब बर्ताब भी किया करती थी, मैं सोचता था शायद कोई टेंशन हो इस वज़ह से ! To be continued... #कहानी #yqbaba #yqdidi #yqhindi #lovestory #thrillerstories #storyteller #unknown_person "अजीब ए दास्तान"

5th Part- 
पुलिस ने बताया कि गैस का पाइप खुला था इस वजह से आग लगी थी, उसने कहा, जल्दबाजी में शायद वो खुला रह गया हो ! धीरे-धीरे भीड़ भी कम हो गई थी,
मैने देखा वो बहुत टेंशन में थी ! मैने कहा, कि घर पर ओर कोई नहीं था क्या ? उसने कहा, नहीं मैं अकेली रहती हूं..मेरी फैमिली में कोई नहीं है !
मैने कहा, कि तुम्हारे रिलेटिव बगैरा कोई ? उसने कहा, है दूर रहते हैं पर..! ज़्यादा बात नहीं होती उनसे
मैने कहा, अब क्या करोगी..उसने कहा पता नहीं !
मैने कहा अच्छा मेरे घर चलो,अँधेरा भी हो ही गया है
उसने कहा, नहीं मैं होटल में रह लूंगी ! मैने कहा, अब कहा जाओगी ऐसे में भरोसा करो मुझ पर और चलो !
उसने कहा, ठीक है एक मिनट रुको...
मैने देखा तो वो जले हुए सामान में कुछ ढूंढ रही थी
देखा तो उसके हाथ में एक लॉकिट था जो आधा
जल चुका था ! उसने कहा अब चलो..
घर पहुँचे हम तो उसने देखा कि सामान जहाँ-वहाँ
पड़ा था ! और कहा, तुम अकेले रहते हो ?
मैने कहा, हाँ मुझे बस दो मिनट दो मैं ये सब सही 
करता हूँ ! उसने कहा नहीं कोई बात नही...
बोली तुम्हारी फैमिली बगैरा ? मैने कहा कोई नहीं है
उसने कहा फ्रेंड्स और रिलेटिव्स कोई ?
मैने कहा हाँ ज़्यादा नहीं है बस ऑफिस में हैं एक दो
फ्रेंड्स और रिश्तेदारों से तो मैं दूर ही रहता हूँ..
फिर उसने पूछा मतलब अनमैरिड भी हो ?
मैने कहा हाँ ! उसने कहा अच्छा और कोई 
गर्लफ्रैंड बगैरा ?
To be continued..

Description- read 1st part 5th Part- पुलिस ने बताया कि गैस का पाइप खुला था इस वजह से आग लगी थी, उसने कहा, जल्दबाजी में शायद वो खुला रह गया हो ! धीरे-धीरे भीड़ भी कम हो गई थी, मैने देखा वो बहुत टेंशन में थी ! मैने कहा, कि घर पर ओर कोई नहीं था क्या ? उसने कहा, नहीं मैं अकेली रहती हूं..मेरी फैमिली में कोई नहीं है ! मैने कहा, कि तुम्हारे रिलेटिव बगैरा कोई ? उसने कहा, है दूर रहते हैं पर..! ज़्यादा बात नहीं होती उनसे मैने कहा, अब क्या करोगी..उसने कहा पता नहीं ! मैने कहा अच्छा मेरे घर चलो,अँधेरा भी हो ही गया है उसने कहा, नहीं मैं होटल में रह लूंगी ! मैने कहा, अब कहा जाओगी ऐसे में भरोसा करो मुझ पर और चलो ! उसने कहा, ठीक है एक मिनट रुको... मैने देखा तो वो जले हुए सामान में कुछ ढूंढ रही थी देखा तो उसके हाथ में एक लॉकिट था जो आधा जल चुका था ! उसने कहा अब चलो.. घर पहुँचे हम तो उसने देखा कि सामान जहाँ-वहाँ पड़ा था ! और कहा, तुम अकेले रहते हो ? मैने कहा, हाँ मुझे बस दो मिनट दो मैं ये सब सही करता हूँ ! उसने कहा नहीं कोई बात नही... बोली तुम्हारी फैमिली बगैरा ? मैने कहा कोई नहीं है उसने कहा फ्रेंड्स और रिलेटिव्स कोई ? मैने कहा हाँ ज़्यादा नहीं है बस ऑफिस में हैं एक दो फ्रेंड्स और रिश्तेदारों से तो मैं दूर ही रहता हूँ.. फिर उसने पूछा मतलब अनमैरिड भी हो ? मैने कहा हाँ ! उसने कहा अच्छा और कोई गर्लफ्रैंड बगैरा ? To be continued.. #कहानी #yqdidi #yqbaba #yqhindi #lovestory #thrillerstories #storyteller #unknown_person "अजीब ए दास्तान"

4th part -
मैने कहा हेलो, उसने कहा हेलो
मैने कहा सॉरी कल मेरी वज़ह से आप लेट हो गई थीं
उसने कहा, कोई बात नहीं !
मैने कहा आप यहाँ नई आयी हो ना...
उसने कहा हाँ, आपको कैसे पता ?
मैने कहा, मैं यहाँ बहुत सालों से आ रहा हूँ !
उसने कहा अच्छा मतलब यहाँ के पुराने कस्टमर है..
मैने स्माइल दी और कहा, हाँ
फिर उसने भी एक प्यारी सी स्माइल दी !
फिर बातों ही बातों में मैने उससे पूछा,
आपका नाम क्या है ?
उसने कहा आयशा... और आपका !
मैने कहा, अर्पण.. उसने कहा, अच्छा
फिर तभी उसे एक कॉल आई, वो बहुत घबरा सी गई
मैने पूछा क्या हुआ ?
उसने कहा मेरे घर में आग लग गई..
पड़ोस की आंटी की कॉल आई थी !
वो जाने लगी...
मैने कहा मेरी कार में चलते हैं,
टैक्सी कहाँ ढूंढ़ोगी अब आप !
उसने कहा ठीक है...
पहुँचे ही थे हम की देखा फायरबिगेड वालों ने आग
तो बुझा दी थी, पर घर और सामान पूरी तरह से 
जल चुका था....!
To be continued...
@k

Description- read 1st part 4th part - मैने कहा हेलो, उसने कहा हेलो मैने कहा सॉरी कल मेरी वज़ह से आप लेट हो गई थीं उसने कहा, कोई बात नहीं ! मैने कहा आप यहाँ नई आयी हो ना... उसने कहा हाँ, आपको कैसे पता ? मैने कहा, मैं यहाँ बहुत सालों से आ रहा हूँ ! उसने कहा अच्छा मतलब यहाँ के पुराने कस्टमर है.. मैने स्माइल दी और कहा, हाँ फिर उसने भी एक प्यारी सी स्माइल दी ! फिर बातों ही बातों में मैने उससे पूछा, आपका नाम क्या है ? उसने कहा आयशा... और आपका ! मैने कहा, अर्पण.. उसने कहा, अच्छा फिर तभी उसे एक कॉल आई, वो बहुत घबरा सी गई मैने पूछा क्या हुआ ? उसने कहा मेरे घर में आग लग गई.. पड़ोस की आंटी की कॉल आई थी ! वो जाने लगी... मैने कहा मेरी कार में चलते हैं, टैक्सी कहाँ ढूंढ़ोगी अब आप ! उसने कहा ठीक है... पहुँचे ही थे हम की देखा फायरबिगेड वालों ने आग तो बुझा दी थी, पर घर और सामान पूरी तरह से जल चुका था....! To be continued.... #yqbaba #yqdidi #yqhindi #कहानी #lovestory #storyteller #thrillerstories #unknown_person

3rd part
पार्किंग से गाड़ी निकाली ही थी 
कि फिर मुझे वहीं दिखी,
शायद वो भी मेरी वज़ह से लेट हो चुकी थी !
मैने गाड़ी रोककर उससे पूछा, आप मेरी वज़ह से लेट
हो गईं अगर आप बुरा ना माने तो मैं आपको आपके घर छोड़ देता हूँ...उसने कहा, 
नहीं थैंक यू लेकिन मैं टैक्सी ले लूंगी !
फिर मैं चल पड़ा वहाँ से... मैं यहीं सोच रहा था कि वो
किसी अज़नबी के साथ क्यूं जाएगी वो तो मुझे जानती 
भी नहीं है ! शायद इस वज़ह से ही मना किया हो उसने
यही सब मेरे माइंड में चल रहा था, फिर मुझे एहसास हुआ ठंडी हवा का ! 
तो मैने ध्यान दिया कि मैं कार का हीटर खोलना ही भूल गया था...
घर पहुँचा डिनर बनाया और रोज़ की तरह अकेले
डिनर करके सोने चला गया !
बैड पर लेटे हुए बस यही सोच रहा था कि वो लड़की उससे पहले तो वहाँ दिखी नही थी, 
शायद नई आयी हो यही सोचते-सोचते पता नही कब आँख लग गई !
अगले दिन रोज़ की तरह अपने ऑफिस के बाद मैं लाइब्रेरी पहुँचा... मैं बुक पढ़ तो रहा था, 
पर पता नहीं मेरा मन और मेरी आँखें उस लड़की को ढूढ़ने को कह रही थी मुझसे !
फिर मैने देखा वो काउंटर पर थी,
तो मैं वहाँ चला गया !
To be continued....
@k

Description- "read 1st part" 3rd part - पार्किंग से गाड़ी निकाली ही थी कि फिर मुझे वहीं दिखी, शायद वो भी मेरी वज़ह से लेट हो चुकी थी ! मैने गाड़ी रोककर उससे पूछा, आप मेरी वज़ह से लेट हो गईं अगर आप बुरा ना माने तो मैं आपको आपके घर छोड़ देता हूँ...उसने कहा, नहीं थैंक यू लेकिन मैं टैक्सी ले लूंगी ! फिर मैं चल पड़ा वहाँ से... मैं यहीं सोच रहा था कि वो किसी अज़नबी के साथ क्यूं जाएगी वो तो मुझे जानती भी नहीं है ! शायद इस वज़ह से ही मना किया हो उसने यही सब मेरे माइंड में चल रहा था, फिर मुझे एहसास हुआ ठंडी हवा का ! तो मैने ध्यान दिया कि मैं कार का हीटर खोलना ही भूल गया था... घर पहुँचा डिनर बनाया और रोज़ की तरह अकेले डिनर करके सोने चला गया ! बैड पर लेटे हुए बस यही सोच रहा था कि वो लड़की उससे पहले तो वहाँ दिखी नही थी, शायद नई आयी हो यही सोचते-सोचते पता नही कब आँख लग गई ! अगले दिन रोज़ की तरह अपने ऑफिस के बाद मैं लाइब्रेरी पहुँचा... मैं बुक पढ़ तो रहा था, पर पता नहीं मेरा मन और मेरी आँखें उस लड़की को ढूढ़ने को कह रही थी मुझसे ! फिर मैने देखा वो काउंटर पर थी, तो मैं वहाँ चला गया ! To be continued.... #कहानी #yqdidi #yqhindi #yqbaba #storyteller #lovestory #thrillerstories #unknown_person "अजीब ए दास्तान"

2nd part
हमारी मुलाकात भी बड़ी दिलचस्प थी,
वो पहली मुलाकात...
मैं लाइब्रेरी में था ओर रोज़ की तरह अपनी वही बुक पढ़ रहा था, जिसका टाइटल था 
"अजीब ए दास्तान"
पर आज पढ़ते-पढ़ते मैं खो ही गया था,
टाइम की तरफ बिल्कुल ही ध्यान नहीं गया !
अंधेरा हो चुका था, धीरे-धीरे भीड़ भी कम हो चली थी
फिर एक आवाज मेरे कानों में पड़ी -
"सर लाइब्रेरी बंद करने का टाइम हो गया है अब आप
कल आएं प्लीज"
मैने पीछे मुड़कर देखा, पहली दफ़ा मैने उसे देखा था 
और मैं बस देखता ही रह गया... 
मानो वक्त थम सा गया !
उसकी नीली भूरी आँखें ओर एक प्यारी सी स्माइल,
मैने आज से पहले ऐसा कभी महसूस नहीं किया था !
फिर दुबारा उसने कहा, सर
मैने हड़बड़ा कर कहा, ओह सॉरी मुझे टाइम का पता ही नहीं चला !
उसने कहा कोई बात नहीं आप कल आ जाना,
आज का टाइम पूरा हुआ लाइब्रेरी बंद करनी है !
इन सब बातों में मैं थोड़ी देर के लिए ये 
भी भूल चुका था कि मैं पढ़ क्या रहा था...
फिर मैं भी वहाँ से निकल गया !
To be continued...                                            -@k

Description - read 1st part Part-2 हमारी मुलाकात भी बड़ी दिलचस्प थी, वो पहली मुलाकात... मैं लाइब्रेरी में था ओर रोज़ की तरह अपनी वही बुक पढ़ रहा था, जिसका टाइटल था "अजीब ए दास्तान" पर आज पढ़ते-पढ़ते मैं खो ही गया था, टाइम की तरफ बिल्कुल ही ध्यान नहीं गया ! अंधेरा हो चुका था, धीरे-धीरे भीड़ भी कम हो चली थी फिर एक आवाज मेरे कानों में पड़ी - "सर लाइब्रेरी बंद करने का टाइम हो गया है अब आप कल आएं प्लीज" मैने पीछे मुड़कर देखा, पहली दफ़ा मैने उसे देखा था और मैं बस देखता ही रह गया... मानो वक्त थम सा गया ! उसकी नीली भूरी आँखें ओर एक प्यारी सी स्माइल, मैने आज से पहले ऐसा कभी महसूस नहीं किया था ! फिर दुबारा उसने कहा, सर मैने हड़बड़ा कर कहा, ओह सॉरी मुझे टाइम का पता ही नहीं चला ! उसने कहा कोई बात नहीं आप कल आ जाना, आज का टाइम पूरा हुआ लाइब्रेरी बंद करनी है ! इन सब बातों में मैं थोड़ी देर के लिए ये भी भूल चुका था कि मैं पढ़ क्या रहा था... फिर मैं भी वहाँ से निकल गया ! To be continued... #कहानी #yqbaba #yqdidi #feel #yqhindi #lovestory #storyteller #unknown_person "अजीब ए दास्तान"

Ist part
उसने कहा मारो खुद को गोली 
वरना मैं मार दूंगी,
मारो गोली !
मैने कहा सुनो तो सही,
उसने कहा नहीं मारो !
मैने कहा अच्छा ठीक है 
ध्यान रखना अपना !
जान से ज्यादा चाहती थी वो मुझे... और मैं उसे
या यूं कह लो दो दिल एक जान थे हम  !
फिर भी इस कहानी का ये अंजाम होगा,
मैने कभी सोचा भी नहीं था !
To be continued....

उसने कहा मारो खुद को गोली वरना मैं मार दूंगी, मारो गोली ! मैने कहा सुनो तो सही, उसने कहा नहीं मारो ! मैने कहा अच्छा ठीक है ध्यान रखना अपना ! जान से ज्यादा चाहती थी वो मुझे... और मैं उसे या यूं कह लो दो दिल एक जान थे हम ! फिर भी इस कहानी का ये अंजाम होगा, मैने कभी सोचा भी नहीं था ! To be continued.... #कहानी #yqdidi #yqbaba #yqdada #lovestory #storyteller #unknown_person #yourquote Ist part 💮 "अजीब ए दास्तान" ✍