Upload Video

#followforfollow

7821 quotes

YourQuote
YourQuote
था वो रोज सोता हर रात को
【अनुशीर्षक में पढ़ें】

#truth_of_life था वो रोज सोता हर रात को, लेकर एक उम्मीद अगले दिन की, हर रोज रहती निगाहे पगडंडियों पर, कोई तो आज आये मेरे पास इस आश में, हर दिन गुजरता गया बस अकेलेपन में, था वो रोज सोता हर.........। थी ना कमी कुछ उसके उस दुकान में, घुट कर जी रहा था वो उस मकान में, अब भी नही था यकीन उसको, कोई नही हैं जिसको बाटे अपना दर्द, था वो रोज सोता हर........। थे बड़े ही हरे-भरे मैदान उसके, पर नही मिल रहे थे इंसान उसके, जेठ की दोपहरी की तरह, जल रहा था ईमान उसका, था वो रोज सोता हर........। आज जब वो सोया चिर निद्रा में, हर कोई उसके पास दिखा, था नही जिसके पास समय, आज वो भी आस-पास दिखा, हर कोई चाहता था बात करना, पर आज वो भी मौन दिखा, था वो रोज सोता हर........। विधि का विधान देखो, कैसा है ये अंजाम देखो, जब थी जरूरत उसको सबकी, तब हर कोई परेशान दिखा, अब जब वो कह रहा अलविदा, हर कोई नयनो से परेशान दिखा, था वो रोज सोता हर........। ©अमित कुमार शुक्ला बी.एच. यू. #yqdidi #yqtales #poetry #truthoflife #stagesoflife #writer #followforfollow